Breaking News

अनिल राजभर के मंत्रीमंडल में शामिल होने पर परिजनों व उनके गांव में जश्न

anil raj
-विजय श्रीवास्तव
-परिजनों व समर्थकों ने बाटी मिठाईयां
-मोदी के गढ वाराणसी के़ शिवपुर विधासभा सीट से भाजपा को दिलायी थी जीत
वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गढ़ वाराणसी के शिवपुर विधानसभा से भाजपा के अनिल राजभर की जीत की खुशी का जश्न अभी उनके गांव नागपुर व उनके परिजन मना ही रहे थे तभी रविवार को उन्हें प्रदेश के मंत्री मंडल में शामिल होने की सूचना ने उनकी खुशी को दूना कर दिया। मंत्री मंडल में शामिल होने की जानकारी मिलते ही उनका परिवार खुशी से झूम उठा। पूरे गांव में लोंगो ने जहां खुब जश्न मनाया वहीं मिठाईयां बाटी गयीं।
गौरतलब है कि अनिल राजभर इस बार वाराणसी के शिवपुर विधानसभा सीट से भाजपा के बैनर तले चुनाव लड़े थे और उन्होंने सपा व बसपा को काफी पीछे छोड़ते हुए शानदार जीत हासिल कर बसपा से यह सीट छीन ली थी। तभी से यह कयास लगाये जा रहे थे कि उन्हें मंत्रीमंडल में शामिल किया जा सकता है। रविवार को जैसे ही मंत्रीमंडल में उन्हें शामिल होने की जानकारी परिजनों व नागेपुर को मिली तो पूरा गांव झूम उठा। अनिल की माॅ, पत्नी, बेटे व बेटी ने भगवान के चरणों में माथा टेकते हुए उनके सफलता की कामना की। अनिल राजभर ने लखनऊ में राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ थी। टीवी से चिपके लोंगो की इस बात की जानकारी मिलते ही लोग एक दूसरे को बधाई देने के साथ ही झूम उठे और एक दूसरे को मिठाईयां बाटी। उनके घर दिन भर बधाई देने वालों का देर रात तक ताता लगा रहा। लोंगो ने एक दूसरे को अबीर-गुलाल लगा कर मिठाईयां खिला कर बधाई दी।
अनिल राजभर ने सकलडीहा पीजी काॅलेज से 1995 में छात्रसंघ अध्यक्ष का चुनाव जीतने के बाद से ही सक्रिय राजनीति में आ गये। उनके पिता रामजीत राजभर 1997 में धानापुर व 2002 में चिरईगांव से विधायक रहें। पिता के निधन के बाद 2003 में वे चिरईगांव विधानसभा सीट से सपा के बैनर तले चुनाव लड़े लेकिन बसपा के वीरेन्द्र सिंह से वे हार गये। वर्ष 2006 में उनके कार्यक्षमता को देखते हुए सपा के पूर्व सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने उन्हें राज्यमंत्री स्तर का दर्जा दे कर बड़ी जिम्मेदारी दी लेकिन 2009 में पार्टी के आश्वासन के बाद भी चंदौली ससंदीय सीट से टिकट न देने पर उन्होंने सपा से नाता तोड़ कर भाजपा की सदस्यता ज्वाइन कर ली। उनके करीबी तिलमापुर के पूर्व प्रधान नागेश्वर मिश्रा ने बताया कि अब सच्चे अर्थों में शिवपुर विधानसभा को विधायक मिला है साथ ही उनके मंत्री बनने से निश्चय ही शिवपुर विधानसभा क्षेत्र के साथ पूरे वाराणसी का चर्तुमुखी विकास हो सकेगा।

Share

Related posts

Share