Breaking News

अपने दो मासूम बच्चों को गंगा नदी में फेक माॅ ने भी लगाई छलांग, तीनों की मौत

1234

–साथ चल रहे भाई ने कूद कर बचाने की कोशिश
-ससुराल वालों से नाराज होकर महिला ने उठाया आत्मघाती कदम
चंदौली। कभी-कभी इंसान जीवन से इतना मायूस हो जाता है कि उसे अपना आस्तित्व मिटाने के अलावा कुछ और नहीं सूझता। कुछ ऐसा ही आज चंदौली में एक महिला के साथ हुआ। जिसने अपने ससुराल वालों से नाराज पहले अपने दो मासूमों को गंगा में फेंका फिर स्वंय खुद छलाग लगाकर गंगा की गोंद समा गयी। बहन के इस आत्मघाती कदम से अवाक साथ में 12 वर्षीय भाई भी अपने बहन व भांजो को बचाने कूद गया। वह तो गनीमत रहा कि मल्लाहों की नजर उस पर पड गयी जिससे वे बचाने में सफल रहे लेकिन बहन व उसके दोनों मासूम बच्चें डूब गये। इस कदम के पीछे पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है।

DR DHARM PRIYA 123

प्राप्त जानकारी के अनुसार बलुआ थाना क्षेत्र के लक्ष्मणगढ़ गाव निवासी दिनेश यादव की शादी वाराणसी के चैबेपुर थाना अंतर्गत लूठाकला गांव की पूजा यादव के साथ हुई थी। जानकारी के मुताबिक पूजा का कल ससुराल में कुछ विवाद हुआ था। पूजा के मैके फोने करने पर आज सुबह उसका छोटा भाई पर गोलू उर्फ धीरज बहन को विदा कराने बहन के ससुराल पहुंचा था। पूजा अपने दोनों बच्चों रुषि (3) एवं अनमोल (7 माह) को लेकर भाई के साथ पैदल ही चल पड़ी। सभी गंगा नदी पर बने बलुआ पुल के रास्ते पैदल ही जा रहे थे।

chandima 11

तभी अचानक पूजा ने गोद में लिए सात माह के अनमोल को गंगा नदी में फेक दिया इसपर साथ चल रहे उसका भाई जबतक बहन से कुछ कहता एक झटके में अपने दूसरे बच्चे रुषि को भी फेंक स्ंवय भी गंगा में कूद पड़ी। अचानक हुए इस हादसे नादान छोटे भाई को कुछ समझ में नहीं आया और वह अपने बहन व बच्चों को बचाने के लिए स्वंय भी गंगा की उफनती धार में कूद गया। यह संयोग ही था कि घाट के किनारे मल्लाहों ने यह देखा और आनन-फानन में कई मल्लाह लोंगो को बचाने मौके पर पहुंचने को तेजी से भागे लेकिन उनके पहुंचने तक महिला तथा उसके दोंनो बच्चें गंगा की गोद में समा चुके थे लेकिन मल्लाहो ने महिलाओं के छोटे भाई को बचा लिया। पुलिस अभी इस घटना के पीछे पारिवारिक घटना को जिम्मेदार मान रही है। अब देखना है कि इसकी असली बजह क्या है जिसके चलते महिला ने इतना बडा आत्मघाती कदम उठाया। इस घटना से जहां मैके में लोंगो का रोना पीटना मचा है वहीं ससुराल वाले भी इस घटना को लेकर सकते में हैं। गंगा में डूबे तीनों को ढूंढ़ने को गोताखोरों को लगाया गया है।

LOHIYA 1

 

Share

Related posts

Share