Breaking News

अब गोरखपुर में बाढ की विनाशलीला, 400 गांव में घुसा पानी

go 1
-झंगहा-बोहरा बांध और बिनहा रिंग बांध के टूटने से स्थिति भयावह
-दो लाख से अधिक आबादी प्रभावित
गोरखपुर। बाढ की विनाशलीला उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों में अपना कहर बरपाने लगी है। अब गोरखपुर जिले को भी बाढ़ ने अपने चपेट में ले लिया है। गोरखपुर में इन दिनों दक्षिण में राप्ती तो उत्तर में रोहिन नदी ने तबाही मचा रखी है। इस बीच झंगहा-बोहरा बांध और बिनहा रिंग बांध भी टूट गया। इससे करीब 400 गांव पानी में घिर गए हैं और जहां तकरीबन दो लाख लोग प्रभावित हो रहे हैं वहीं हजारों लोग बुरी तरह से फस गये हेैं।
गौरतलब है कि विगत एक माह से कई राज्यों में बाढ ने तबाही मचा रखी है। अभी तक यूपी के भी कई जिले भी इसके चपेट में आ गये हैं। इसमें गोरखपुर भी चपेट में आ जाने से लोग परेशान व बेहाल हैं। सरकारी मदद न के बराबर मिलने से स्थिति और भयावह होती जा रही है। मखनहा बांध टूटने से रोहिन का पानी शहर के उत्तरी इलाके राजेंद्रनगर पश्चिमी से बरगदवा होते हुए कालोनियों में पहुंच गया।  राप्ती का पानी बढ़ता ही जा रहा है। वह एक सेंटीमीटर प्रति घण्टे की रफ्तार से बढ़ रही है। इससे लोगों की चिंता और डर और बढ़ रहा है। गोरखपुर में राप्ती नदी के किनारे बना गाहासाड़ उत्तरी कोलिया बांध सुबह 5 बजे मंझरिया गांव के सामने कट गया है। इससे दस गांवों की आबादी बुरी तरह प्रभावित है। गोरखपुर-बस्ती मंडल में बाढ़ से हालात अब बेकाबू होते जा रहे हैं। बीते 24 घंटे में चार लोगों की मौत हो गई है। गोरखपुर जिले में सवा लाख लोग संकट में हैं। उनकी मदद के लिए सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। एयरफोर्स की हेलीकॉप्टर टीम गुरुवार से ही मदद में लग गई है। सोनौली रोड पर शुक्रवार को भी रोडवेज बसें नहीं चलीं। वहीं मानीराम-पीपीगंज रेल मार्ग पर पानी लग गया है। गोरखपुर के गोविन्दपुर , मझिगावा , बेला , जमुआड़ ,खरबुजहवा
घुनघुन , मंझरिया , उतरासोत , टिकरिया और मोहम्मदपुर सहित कई गांवों में पानी घुसने से स्थिति बद से बदतर होती जा रही है।

Share

Related posts

Share