Breaking News

अमेन्डमेन्ड बिल के खिलाफ बिजली कर्मचारियों ने कार्य ठप किया, निजी घरानों से मंहगी बिजली खरीदने का आरोप

eeee

विजय श्रीवास्तव
-कार्य बहिष्कार के चलते कई इलाकों में फाल्ट होने पर नहीं दूर हुई फाल्ट
-कल भी करेंगे बिजली कर्मचारी कार्य बहिष्कार
वाराणसी। रिक्त पदों पर संविदा कर्मियों की नियमित भर्ती पुरानी बहाली इलेक्ट्रिसिटी अमेन्डमेण्ड बिल की वापसी उ0प्र0रा0वि0 परिषद का गठन, वेतन विसंगति का निराकरण, सरकारी अंग के बिजलीघरो का नवीनीकरण, निजी घरानों से महंगी बिजली की खरीद बन्द करने आदि मांगों की पूर्ति हेतु उ0 प्र0 की सरकार को दी गई नोटिस कि यदि उपरोक्त मांगो को लेकर आज बिजली विभाग के कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार किया। इस दौरान एक विशाल सभा का आयोजन भेलूपुर स्थित पुराने पावर हाउस में किया गया जिसमंे मांग न मानने पर आर-पार की चेतावनी दी गयी।

banerr 123

आर0 के0 वाही की अध्यक्षता मे हुई विशाल सभा में बिजली विभाग के हजारों कर्मचारियों ने शिरकत की, सभा को सम्बोधित करते हुए प्रान्तीय अतिरिक्त महामंत्री डा0 आर0 बी0 सिंह ने कहा कि इलेक्ट्रिसिटी अमेन्ड्मेन्ड बिल जनता एवं कर्मचारियों दोनो के लिए घातक है। यदि यह लागू हुआ तो उपभोक्ताओ को 10 रु0 प्रति यूनिट कि दर से बिजली मिलेगी और उपभोक्ता अपनी बिजली कटवाने के लिये मजबूर हो जायेगा। आज जहा हम बिजली की उपलब्धता के कारण खाद्यान के मामले मे आत्मनिर्भर है, यह आत्मनिर्भरता समाप्त हो जायेगी और पुनः हमे अनाज विदेशों से मंगाकर खाना पड़ेगा। वरिष्ठ नेता चन्देश्वर सिंह ने बताया कि 35-40 वर्ष सेवा करने के बाद भी पेंशन न दिया जाना तानाशाही निर्णय है इसे पुनः लागू किया जाय।

प्रान्तीय उपमहामन्त्री ओ0 पी0 सिंह ने बताया कि सरकारी बिजली घरो को धीरे -धीरे बन्दी के कगार पर ले जाकर निजी घरानो के बिजली घरो से बिजली खरीद कर उपभोक्ताओ को देना सीधे -सीधे निजी घरानो को लाभ पहुंचाने की मंशा प्रतीत होती है।
सरकारी बिजली घरो का नवीनीकरण किया जाये, निजी घरानो से मंहगी बिजली खरीद बन्द की जाये। प्रथम मंडल के मंत्री जीऊतलाल ने बताया नियमित कार्य को कराने हेतु आउट सोर्सिन्ग के तहत ठेकेदारो के माध्यम से कर्मचारियों की भर्ती सीधे -सीधे ठेकेदारी प्रथा को बढावा देने का सुनियोजित षडयन्त्र है। इन सभी ठेकेदार कर्मियों को रिक्त पदो पर तेलन्गाना सरकार की तरह अविलम्ब नियुक्ति किया जाये, वेतन विसंगति दूर की जाये। अन्य नेताओ ने भी केन्द्रीय भारत सरकार की कर्मचारी विरोधी निति की भत्सर्ना की।
कार्यबहिष्कार के कारण नगर के विधुत बिलांे के काउंटर भी नही खुले जिसके कारण चैकाघाट, पहड़िया, कैंट, भेलूपुर, कज्जाकपुरा, सिगरा, एवं डी0पी0एच0 स्थित खंडो में वसूली बिल्कुल ठप रही।
कार्य बहिष्कार के कारण बजरंग नगर, भट्टि, लल्लापुरा, हिरामनपुर, तुलसीनगर, लेढूपुर, प्रसादपुर, दुदुलपुर, रमईपट्टी, हनुमान फाटक, सहित विभिन्न क्षेत्रों तार टूटने एवं अन्य फाल्ट के कारण बिजली बंद रही जो कार्य बहिष्कार के कारण इनका मरम्मत नहीं हो पाया वक्ताओं ने बताया कि सिर्फ अस्पतालों की आपूर्ति बाधित होने पर ठीक किया जाएगा, हम बिजली बंद नहीं करेंगे, लेकिन किसी कारण से बिजली खराब होती है तो उसे 10 जनवरी को ही ठीक किया जाएगा।
सभा को श्री चन्देश्वर सिंह, डा0 आर0बी0 सिंह, ओ0 पी0 सिंह, विजय सिंह, जीऊतलाल, राघवेंद्र गोस्वामी, तपन चटर्जी, विकास कुशवाहा, अमितानन्द त्रिपाठी, अतनू भट्टाचार्य, श्यामल भट्टाचार्य, मो0 मेहँदी, जय प्रकाश, संतोष कुमार भारती, नरेंद्र शुक्ला, देवेंद्र सिंह, बृजेश यादव, पारस यादव, आदि ने सम्बोधित किया। सभा की अध्यक्षता आर0के0 वाही ने की एवं संचालन अंकुर पांडेय ने किया।

 

 

Share

Related posts

Share