Breaking News

अर्पणा यादव के कान्हा उपवन पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ

cm aaa
-अर्पणा यादव मुलायम सिंह यादव की बहू  प्रतीक यादव की पत्नी हैं
-पशुप्रेमी हैं प्रतीक यादव
लखनऊ। राजनीति बड़ी अजीब चीज होती है, जहां हर बात के माने निकाले जाते हैं, संभावनाए तलाशे जाते हैं। हो भी क्यों न इन्हीं संभावनाओं के बीच कई बार कई बार शब्द आपस में महिनों अठखेलियां खेलते हुए आपस में नित नयी बातें गढ़ते रहते हेैं और आखिरकार अन्तिम में वहीं संभावनाओं पर मुहर लग जाती हैं। जिसपर महिनों कयास लगाये जाते रहे हेैं। कुछ इसी तरह की संभावनाएं इन दिनों पूर्व सपा सुप्रीमों मुलायम सिहं यादव की छोटी बहू अर्पणा यादव व उनके दूसरे पुत्र प्रतीक के प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से दो बार हुई मुलाकात से लगाये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लखनऊ में स्थित अर्पणा यादव की गौशाला कान्हा उपवन का दौरा किया.। इस गौशाला की देखरेख मुलायम सिंह की बहू अपर्णा यादव और बेटे प्रतीक यादव करते हैं। इस गौशाला में पहुंचकर सीएम योगी ने गायों को चारा खिलाया। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री  दिनेश शर्मा और मंत्री स्वाति सिंह भी मौजूद थीं।
ंगौरतलब है कि इस गौशाला की देखरेख करने वाली संस्था का नाम है जीवाश्रय है।. इसके संरक्षक मुलायम के बेटे प्रतीक यादव हैं। कान्हा उपवन में लावारिस पशुओं को रखा जाता है। इसमें गोवंश के पशुओं के अलावा कुत्तों को भी संरक्षण दिया जाता है। मालूम हो मुख्यमंत्री बनने के बाद से योगी आदित्यनाथ और अपर्णा यादव की ये दूसरी मुलाकात है। योगी के शपथग्रहण के दूसरे दिन ही अपर्णा और प्रतीक ने मुलाकात की थी और कान्हा उपवन आने का न्योता दिया था।
बताया जाता है कि प्रतीक यादव को पशुओं से बहुत प्रेम हैं। वे खुद शाकाहारी है और लावारिस पशुओं की मदद के लिए ही उन्होने ये संस्था खोली थी। कान्हा उपवन पर नगर निगम का अधिकार है लेकिन इसका संचालन अपर्णा और प्रतीक की संस्था जीवाश्रय करती है। इस मौके पर मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ की और कहा कि गौसेवा के लिए वे खुद आए और गायों को चारा खिलाया. अपर्णा ने कहा कि योगी आदित्यनाथ बेहद अच्छे इंसान हैं और सेवा के काम में हमेशा लगे रहते हैं। वैसे इस दौरान पत्रकारों के भाजपा में ज्वाइन करने के बाबत उठ रहे संभावनाओं पर पूछे जाने पर उन्होंने पूरी तरह से इन्कार नहीं किया। खैर हम भी अभी संभावनाओं के बीच कयास लगाते रहेंगे।

Share

Related posts

Share