आखिरकार तेज बहादुर को किया बीएसएफ ने नौकरी से बर्खास्त

tej_bahadur_
(विजय श्रीवास्तव)
-खराब खाना को लेकर सोशल मीडिया पर वीडियो बनाकर छवि खराब करने का लगा था आरोप
नई दिल्ली। सेना में खराब खाना को लेकर सोशल मीडिया  में मोर्चा खोलने वाले बीएसएफ के जवान तेजबहादुर यादव को आखिरकार सजा मिल गयी । बीएसएफ ने कोर्ट मार्शल करते हुए बुधवार को तेजबहादुर को बर्खास्त कर दिया। बीएसएफ ने सोशल मीडिया पर खराब खाना परोसे जाने की झूठी शिकायत करके बल की छवि खराब करने के मामले में जवान तेज बहादुर को बर्खास्त कर दिया है। इस मामले में बीएसएफ का कहना है कि जवान ने झूठी शिकायत करके फोर्स की छवि खराब करने की कोशिश की है। कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी में भी यह बात उभरकर सामने आयी है कि इस मामले में जिन जवानों से पूछताछ की गयी, उनमें से किसी ने खाने की शिकायत नहीं की।
 गौरतलब है कि बीएसएफ जवान तेजबहादुर यादव ने पिछले वर्ष सुरक्षा बलों को मिलने वाले खराब खाने का वीडियो सोशल मीडिया पर डाला था, जो कि वायरल हो गया था। तेज बहादुर यादव ने वीडियो में आरोप लगाया था कि बीएसएफ जवानों को मिलने वाली दाल और परांठे की क्वालिटी बेहद खराब है। उनका कहना था कि कई बार जवानों को 11 घंटे बर्फ में खड़ा रहने के बाद भूखे पेट सोना पड़ता है। यादव का दावा था कि जवानों को मिलने वाले राशन में सीनियर अफसर धांधली कर रहे हैं। इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जांच के आदेश दिए थे। वीडियो के वायरल होने के कारण इस मुद्दे पर काफी बवाल मचा था। इसमें सरकार से लेकर सेना की बड़ी फजीहत हुई। जिसपर इसके जांच के आदेश दे दिये गये। तेज बहादुर का वीडियो वायरल होने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय और केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस घटना का ब्योरा मांगा था। तेज बहादुर के खिलाफ अनुशासनहीनता सहित कई आरोपों की जांच चल रही थी। उसकी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की याचिका भी खारिज कर दी गयी थी।
तेजबहादुर यादव को बीएसएफ से बर्खास्त करने के फैसले पर तेजबहादुर यादव की पत्नी शर्मिला ने कहा सरकार ने काफी गलत किया है। उन्होंने बस वहां की स्थिति दर्शाया था. 20 साल से ऊपर की नौकरी के बाद बीएसएफ से बर्खास्त किए जाने का कदम काफी गलत है।

Share

Leave a Reply

Share