Breaking News

काशी महाकाल एक्सप्रेस से इंदौर और उज्जैन का सफर होगा, आज मोदी दिखायेंगे हरी झण्डी

विजय श्रीवास्तव
-20 फरवरी से ट्रेन का होगा नियमित परिचालन
-न्यूनतम किराया 1629 रु. होगा
-ट्रेन हफ्ते में दो दिन मंगलवार व गुरुवार को वाराणसी से चलेगी
-ट्रेन के अन्दर होगा भक्तिमय वातावरण, बजेंगे भजन गीत

वाराणसी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की तीसरी प्राइवेट ट्रेन काशी-महाकाल एक्सप्रेस को आज वाराणसी से यानि 16 फरवरी को हरी झंडी दिखाएंगे। विशेष गाड़ी इलाहाबाद जंक्शन से होकर जाएगी। वैसे 20 फरवरी से ट्रेन का नियमित परिचालन होगा। ट्रेन के हर कोच में 5 सुरक्षाकर्मी होंगे, कुल 1080 सीटें होगी। जिसका न्यूनतम किराया 1629 रु. होगा। ट्रेन हफ्ते में दो दिन मंगलवार व गुरुवार को वाराणसी से चलेगी। यह लखनऊ, कानपुर, बीना, भोपाल, उज्जैन होते हुए इंदौर तक पहुंचेगी। इंदौर से बुधवार व शुक्रवार को उज्जैन, भोपाल, बीना, लखनऊ होकर वाराणसी जाएगी। ‘काशी महाकाल एक्सप्रेस’ तीन ज्योतिर्लिंग (बाबा विश्वनाथ, महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर) को जोड़ेगी। यह हमसफर क्लास की विशेष ट्रेन होगी। यात्रियों को भक्तिमय माहौल मिले, इसलिए ट्रेन में भजन-कीर्तन बजेंगे।
गौरतलब है कि 16 फरवरी को विशेष ट्रेन वाराणसी से इलाहाबाद जंक्शन से होकर कानपुर सेंट्रल, बीना, संत हिरदारामनगर, उज्जैन से होकर इंदौर जाएगी। 20 फरवरी से गाड़ी संख्या 82401 वाराणसी-इंदौर काशी-महाकाल एक्सप्रेस हफ्ते में दो दिन मंगलवार और गुरुवार को लखनऊ से होकर जाएगी। थर्ड एसी श्रेणी के 15 कोच वाली ट्रेन दोपहर में 2.45 बजे वाराणसी से रवाना होकर अगले दिन सुबह 9.40 बजे इंदौर पहुंचेगी। गाड़ी संख्या 82402 इंदौर-वाराणसी बुधवार व शुक्रवार को सुबह 10.55 बजे चलकर अगले दिन सुबह छह बजे वाराणसी पहुंचेंगी। गाड़ी संख्या 82403 रविवार दोपहर में 3.15 बजे चलकर शाम को 5.30 बजे इलाहाबाद जंक्शन पहुंचेगी। पांच मिनट के बाद कानपुर के लिए रवाना हो जाएगी। कानपुर में शाम 8.50 बजे पहुंचेगी फिर अगले दिन सुबह 9.40 बजे इंदौर जंक्शन पहुंचेगी। गाड़ी संख्या 82404 इंदौर-वाराणसी सोमवार सुबह 10.55 बजे इंदौर से चलकर रात में 11.35 बजे कानपुर व रात में 2.25 बजेे इलाहाबाद पहुंचेगी। दस मिनट बाद रवाना होकर सुबह पांच बजे वाराणसी पहुंचेगी। बोगी की गतिविधि पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी को ‘लाइन मॉनीटरिंग सिस्टम’ से जोड़ा गया है। ट्रेन में 9 एसी थ्री कोच, पैंट्री कार, दो ब्रेकवॉन कोच होंगे। यह देश की तीसरी निजी ट्रेन होगी, लेकिन इसमें क्रू मेंबर लड़कियां नही होगीं। हर बोगी में कॉफी और चाय की वेंडिंग मशीन होगी, जिसके लिए पैसे नहीं चुकाने होंगे।
गौरतलब है कि गत वर्ष 15 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में देश की पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस (विशेष उद्घाटन गाड़ी) को हरी झंडी दिखाकर वाराणसी के लिए रवाना किया था। 17 फरवरी को वंदे भारत एक्सप्रेस में पहली बार यात्रियों ने सफर किया था।

Share

Related posts

Share