Breaking News

किसानों से तत्काल बातचीत के लिए सरकार तैयार : अमित शाह

विजय श्रीवास्तव
-प्रदर्शनकारी किसानों को अमित शाह का संदेश
-किसानों के हर मांग पर विचार करने का आश्वासन
-लेकिन सड़क छोड़ बुराड़ी में हों शिफ्ट
-कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए किसान कर रहे हैं धरना-प्रदर्शन
-जबकि पहले केन्द्रीय कृषि मंत्री ने वार्ता के लिए 3 दिसम्बर को दिया था समय

नई दिल्ली। आखिरकार किसानों के उग्र तेवर को देखते हुए सरकार ने नम्र रूख अपनाने का संकेत दे दिया है। कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को गृह मंत्री अमित शाह ने संदेश देते हुए उन्होंने कहा कि किसानों की हर समस्या और मांग पर विचार करने के लिए केंद्र सरकार तैयार है। मालूम हो कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 3 दिसंबर को किसानों को चर्चा करने के लिए बुलाया है।


गौरतलब है कि किसान सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए तीन माह से आन्दोलन कर रहे हैं। अब वे अपनी मांग को लेकर सड़क पर उतर चुके हैं। इन दिनों पंजाब की सीमा से लेकर दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर उनका आंदोलन जारी है। किसानों की मांग है कि उन्हें जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने की इजाजत दी जाए, लेकिन सरकार उन्हें दिल्ली के बुराड़ी स्थित निरंकारी ग्राउंड पर प्रदर्शन करने की इजाजत दी है। किसान इसपर राजी नहीं हैं। वे सिंधु बॉर्डर पर डटे हैं। जिसको लेकर कृषि मंत्री ने सरकार से बातचीत के लिए 3 दिसम्बर का समय दिया है लेकिन हालात देखते हुए आज गृह मंत्री अमित शाह ने अपने संदेश में कहा कि पंजाब की सीमा से लेकर दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर रोड पर अलग-अलग किसान यूनियन की अपील पर आज जो किसान भाई अपना आंदोलन कर रहे हैं, उन सभी से मैं अपील करना चाहता हूं कि भारत सरकार आपसे चर्चा के लिए तैयार है। गृह मंत्री ने कहा कि अगर किसान चाहते हैं कि भारत सरकार जल्द बात करे, 3 दिसंबर से पहले बात करे, तो मेरा आपको आश्वासन है कि जैसे ही आप निर्धारित स्थान पर स्थानांतरित हो जाते हैं, उसके दूसरे ही दिन भारत सरकार आपकी समस्याओं और मांगों पर बातचीत के लिए तैयार है। मालूम हो कि गृहमंत्री ने किसानों से कहा है कि अगर आप रोड की जगह निश्चित किए गए स्थान पर अपना धरणा-प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढ़ंग से, लोकतांत्रिक तरीके से करते हैं तो इससे किसानों की भी परेशानी कम होगी और आवाजाही कर रही आम जनता की भी परेशानी कम होगी।
अमित शाह ने कहा कि अलग-अलग जगह नेशनल और स्टेट हाइवे पर किसान भाई अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली के साथ इतनी ठंड में खुले में बैठे हैं, इन सब से मैं अपील करता हूं कि दिल्ली पुलिस आपको एक बड़े मैदान में स्थानांतरित करने के लिए तैयार है, जहां आपको सुरक्षा व्यवस्था और सुविधाएं मिलेंगी।

Share

Related posts

Share