Breaking News

केन्द्र के बाद अब योगी सरकार ने प्रदेशवासियों को दिया जोरदार झटका, बिजली दरों में वृद्धि

ब्यूरो डेस्क
-सितम्बर में भी प्रदेश में 12 प्रतिशत की हुई थी वृद्धि
-ग्रामीण इलाकों में फिक्स चार्ज 400 रूपये से बढाकर 500 रूपये कर दिया हेै

लखनउ। केन्द्र की मोदी सरकार ने जहां नये वर्ष में रेलवे किराये, गैस सिलेण्डरों में बढोत्तरी कर देशवासियों को झटका दिया वहीं अब दूसरे दिन उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अपने प्रदेशवासियों को महंगाई का तगडा झटका दिया है। योगी सरकार ने बिजली के दाम बढा दिए है। अब बिजली उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट 66 पेैसे अधिक देने होंगे। उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग के आदेशानुसार शहरी व काॅमर्शियल क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण उपभोक्ताओं के लिए भी बिजली के दामों में इजाफा कर दिया गया है। साथ ही योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में फिक्स चार्ज 400 रूपये से बढाकर 500 रूपये कर दिया है। जिससे अब प्रदेश में बिजली 10 से 15 प्रतिशत महंगी हो जायेगी।
सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश में इस बार बिजली के रेट बढाने में विद्युत नियामक आयोग की मंजूरी नहीं ली गयी है। यूपीपीएसीएल ने स्वंय इस बार अपने से बिजली दरों में इजाफा कर दिया है। जिससे अचानक रेट बढने पर विद्युत उपभोक्ता परिषद यूपी विद्युत नियामक आयोग पहुंच गया है। इस मामलें में जानकारी मिली है कि विद्युत उपभोक्ता परिषद ने एक जनहित याचिका भी दाखिल की है। गौरतलब है कि इससे पहले सितम्बर 2019 में यूपी में बिजली की दों में बढोत्तरी की गयी थी। फिर अचानक बिजली दरों में इजाफा ने प्रदेशवासियों को नये वर्ष का जोरदार तडका दिया था। उस समय भी 12 प्रतिशत बिजली दरों में वृद्धि की गयी थी।

Share

Related posts

Share