Breaking News

कैण्डिल पीस मार्च से दिया विश्व शान्ति का संदेश

 brahma 1

विजय श्रीवास्तव
-ब्रह्माकुमारी संस्था के संस्थापक ब्रह्माबाबा की 49वीं पुण्य तिथि
-विश्व शान्ति हेतु 12 घण्टे की मौन साधना के साथ शहीदों को दी गई श्रद्धांजली
वाराणसी। ब्रह्माकुमारी संस्था के संस्थापक प्रजापिता ब्रह्माबाबा की 49वीं पुण्य तिथि देश-विदेश में स्थित संस्था की शाखाओं पर विविध आयोजनों के साथ मनाया गया। वाराणसी में सारनाथ स्थित क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा विश्व शान्ति हेतु विशेश मौन तपस्या के साथ कैण्डिल पीस मार्च का आयोजन किया गया। संस्था के सारनाथ स्थित क्षेत्रीय कार्यालय से निकाली गई पीस मार्च में संस्था के सदस्यों के साथ अनेक विषिश्टजनों की सहभागिता रही।

brahma 4

उक्त अवसर पर राजयोगिनी ब्र.कु. सुरेन्द्र दीदी ने मानवीय मूल्यों की कमी को सामाजिक पतन का मूल कारण बताते हुए कहा कि ब्रह्माबाबा का जीवन मानवीय मूल्यों के उत्थान एवं विश्व शांति की स्थापना हेतु समर्पित रहा। कार्यक्रम में राजयोगी ब्र.कु. दिपेन्द्र ने ब्रह्माबाबा के जीवन वृत्त पर प्रकाश डालते हुए उनसे श्रेश्ठ जीवन जीने की प्रेरणा लेने हेतु श्रद्धालुओं को प्रेरित किया। इस अवसर पर संस्था के सभागार में ब्रह्माबाबा को भावभीनी श्रद्धांजली अर्पित की गई। उक्त अवसर पर संस्था की क्षेत्रीय निदेशिका राजयोगिनी ब्र.कु. सुरेन्द्र दीदी, प्रबन्धक राजयोगी ब्र.कु. दीपेन्द्र, ब्र.कु. विपिन, एस.पी. प्रोटोकाल विकास वैद्य, डा. योगेष्वर सिंह, डा. दिनेष, के.बी. सिंह आदि के साथ अनेक विषिश्टजनों ने बाबा के चित्र पर पुश्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

श्रद्धांजली समारोह के पश्चात् आयोजित पीस मार्च में लोगों ने हाथों में मोमबत्ती लेकर विश्व शान्ति एवं सद्भावना हेतु विषेश प्रार्थना की। तत्पष्चात् आयोजित पीस मार्च संस्था के कार्यालय से पुरातत्व संग्रहालय होते हुए सारनाथ चैराहे पर जाकर शान्ति सभा में परिणत हुई। यात्रा के दौरान विश्व शांति एवं सद्भावना के गीत बजाए गए। हाथों में मोमबत्ती एवं विष्व शान्ति दिवस का बैनर लिए सफेद वस्त्रधारी ब्रह्माकुमार-कुमारी भाई-बहनों ने विश्व शान्ति एवं सद्भावना हेतु 5 मिनट का मौन धारण करने के साथ देश की रक्षा के लिए कुर्बान वीर शाहिदों के प्रति हार्दिक श्रद्धांजली अर्पित किया। इस अवसर पर देश व दुनिया के अनेक देशों में स्थित संस्था के केन्द्रों पर विश्व शान्ति हेतु विशेश प्रार्थना सभा एवं मौन साधना कार्यक्रम का आयोजन हुआ। सारनाथ स्थित षाखा में सदस्यों ने प्रातः 3 बजे से ही विश्व शान्ति हेतु 12 घण्टे की विशेश मौन साधना रखी। श्रद्धांजलि समारोह में अनेक स्थानीय समाजसेवी, व्यापारी आदि के साथ सर्वसाधारण की उपस्थिति रही। कार्यक्रम का संचालन ब्र.कु. तापोशी बहन ने किया। 

पीस मार्च में ब्र.कु. आशा, ब्र.कु. रेखा, प्रभा, पूनम, पूर्णिमा एवं राजु, राजकुमार, सत्यनारायण, गंगाधर, अजीत आदि की उपस्थिति रही। ज्ञातव्य हो कि विश्व शांन्ति एवं सद्भावना के क्षेत्र में समर्पित ब्रह्माकुमारी संस्था के संस्थापक ब्रह्माबाबा ने 18 जनवरी सन् 1969 में अपनी देह का त्याग कर अव्यक्त हुए थे।

 

Share

Related posts

Share