Breaking News

कोरोना आपदा: सहायता के लिए लोगों ने अपने दिल के दरवाजे खोले

विजय श्रीवास्तव
-‘बिंदु प्रकाश‘ के सम्पादक अकेले ही कर रहे हैं सेवा
-आईएमए अध्यक्ष ने दिया मुख्यमंत्री सहायता कोष हेतु ढ़ाई लाख का चेक
-अमूल्या ने दिए जमा किए गुल्लक के पैसे

वाराणसी। कोरोना महामारी से आज पूरा देश बेहाल है। ऐसे में 21 दिन के लाकॅडाउन ने विशेषकर गरीबों का निवाला तक छीन लिया है। आज उनके परिवारों के समक्ष दो वक्त का खाना भी किसी भारी चुनौती से कम नहीं है। ऐसे में सरकार के अलावा हर कोई सक्षम व्यक्ति अपने-अपने तरीके से गरीबों के लिए कुछ न कुछ करने के लिए आगे आ रहा है। इसमें वाराणसी भी पीछे नहीें है। समाज के हर तबका आज इन गरीबों के लिए खडा है। यहां तक की छोटे बच्चें अपने गुल्लक तक के पेैसे दान कर रहे हैं तो वहीं एक दैनिक समाचार पत्र ‘बिंदु प्रकाश‘ के सम्पादक भारतेन्दु तिवारी अकेले ही कभी अपने बाइक से गरीबों को लंच पैकेट का वितरण कर रहे हैं तो कभी छोटा सिलेण्डर सहित अनाज आदि का वितरण कर रहे हैं।


इसी क्रम में आज जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा को आज एक बच्ची अमूल्या पुत्री मुरलीधर पाण्डेय डीडी न्यूज ने गिटार खरीदने के लिए जमा पैसे का गुल्लक कोवड-19 से प्रभावितों के सहायतार्थ सौंप कर समाज के सामने उदाहरण पेश किया। आईएमए के अध्यक्ष डा आलोक भारद्वाज द्वारा मुख्यमंत्री सहायता कोष हेतु ढ़ाई लाख का चेक, कुमार कंस्ट्रक्शन कंपनी बी, नरिया की ओर से राजन गौतम, सुभाष सिंह तथा अनुराधा राय द्वारा इण्डियन रेडक्रास सोसायटी, वाराणसी फंड हेतु रु 51 हजार का चेक, रामनरेश सिंह पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट परिवहन बार एसोसिएशन की ओर से रु 35000 सहयोग राशि, भाजपा जिलाध्यक्ष द्वारा इण्डियन रेडक्रास सोसायटी, वाराणसी फंड में एक लाख का चेक सौंपा गया।


कोविड-19 की आपदा में फंसे लोगों की सहायता हेतु एचडीएफसी बैंक के रथयात्रा शाखा में इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी, वाराणसी के नाम से जिला प्रशासन वाराणसी द्वारा खोले गए खाते में आज जिलाधिकारी महोदय, वाराणसी के आशुलिपिक राकेश कुमार द्वारा व्यक्तिगत रूप से अपनी तनख्वाह से रुपया 15,000 का चेक जिलाधिकारी महोदय को दान स्वरूप दिया गया । राकेश कुमार, आशुलिपिक, जिलाधिकारी द्वारा अन्य सरकारी कर्मचारियों से भी अपील की गई कि वे भी अपनी स्वेच्छा से कोविड-19 की आपदा में फंसे लोगों की सहायता हेतु आगे आएं और स्वेच्छा से दान करें, ताकि सब के सहयोग से इस आपदा पर काबू पाया जा सके।

Share

Related posts

Share