Breaking News

गाजियाबाद: आत्मा की शांति के लिए मौन खड़े 22 लोगों की जिन्दगी स्वंय मलबे में दफन हो गयी

विजय श्रीवास्तव
-घटिया सामाग्री के चलते बने उखलारसी श्मशान की छत तीन माह में ढह गयी
-मुरादनगर शमशान घाट पर हुआ हादसा
-मुख्यमंत्री योगी ने इस हादसे में मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है

गाजियाबाद। एक बार फिर देश में भष्टाचार के चलते 22 लोंगो की जिन्दगी हमेशा-हमेशा के लिए बुझ गयी। उत्तर प्रदेश का गाजियाबाद जिला में घटी इस नये वर्ष की घटना को लोग कभी नहीं भूलेंगे। जब घटिया सामाग्री के प्रयोग के चलते मुरादनगर के श्मशान घाट परिसर में गैलरी की छत भरभरा कर गिर गई। जिससे इस हादसे में 22 लोगों की मौत हो गई है वहीं करीब 20 लोगों को मलबे से निकालकर विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। जबकि अभी भी कई लोंगो के दबे होने की उम्मीद हेैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मुरादनगर के दयानंद कॉलोनी निवासी दयाराम की रात को बीमारी के चलते मौत हो गयी थी। उनके अंतिम संस्कार में 100 से ज्यादा मोहल्लेवासी व रिश्तेदार शामिल हुए थे। अंतिम संस्कार की अंतिम प्रक्रिया चल रही थी। पुजारी के आह्वान पर सभी लोग श्मशान घाट परिसर में बने भवन के अंदर खड़े होकर आत्म शांति पाठ कर रहे थे। इसी दौरान एक तरफ की जमीन धंस गयी। परिणामस्वरूप दीवार नीचे बैठ गयी और लिंटर गिर गया। किसी को भागने तक का मौका नहीं मिला। जिसके नीचे 40 से ज्यादा लोग दब गए। दर्दनाक हादसे में 18 लोगों की मौत की हो गई है।
स्थानीय लोंगो का कहना हेै कि श्मशान घाट में क्षतिग्रस्त लिंटर का निर्माण गत अक्तूबर में ही पूरा हुआ था। आरोप है कि सरिया को छोड़ निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया। गैलरी ढहते ही निर्माण सामग्री चूरे में तब्दील हो गई। प्रशासन मामले की जांच में जुट गया है। मौके पर जमा भीड़ भ्रष्टाचार का आरोप लगा कर जिम्मेदार लोगों को गिरफ्तार करने की मांग कर रही है।
पुलिस प्रशासन ने बचाव अभियान चलाया। आइजी मेरठ प्रवीण कुमार के अनुसार मलबे में दबे में कुल 35 लोगों को रेस्क्यू कर निकला गया है। मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई। बारिश के कारण बचाव अभियान में दिक्कत आई। कमिश्नर अनीता सीमेश्राम व आईजी मौके पर पहुंचे और गाजियाबाद के जिलाधिकारी और एसएसपी से जानकारी ली। कमिश्नर अनीता सीमेश्राम व आईजी ने 18 लोगों की मौत की पुष्टि की। उनके मुताबिक, मृतकों की संख्या और बढ़ सकती है।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद गाजियाबाद के मुरादनगर में छत गिरने की घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है।
मुख्यमंत्री ने इस हादसे में मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मण्डलायुक्त मेरठ एवं एडीजी मेरठ जोन को घटना के संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए हैं।



Share

Related posts

Share