Breaking News

गुजरात : आज होगा प्रथम चुनावी महासंग्राम, 19 जिलों की 89 सीटों पर मतदान

gujratelection

विजय श्रीवास्तव
-अन्तिम दिन भी कांग्रेस व भाजपा ने एक दूसरे को कोसने का क्रम जारी रखा
-गुजरात विकास का माडल कोसो दूर
वाराणसी। गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के तहत आज 89 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। विगत महिनों से चुनावी दंगल के रूप में तब्दील गुजरात में आखिर कार अब निर्णायक दौर का समय आ ही गया। भाजपा के इस मजबूत गढ को जहां भाजपा इस बार भी बचाना चाहती है वहीं कांग्रेस इस फतह करने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोडना चाहती है। कांग्रेस के लिए चुनाव जीतना संजीवनी के समान होगा। विगत कई चुनावों मंे शिकस्त खाने के बाद उसे हार्दिक पटेल सहित तीन पाटीदारों का समर्थन किसी संजीवनी के समान मिला है। जिसे कांग्रेस गवाना नहीं चाहती है। पहले चरण में 977 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। जिसमें मुख्य मुकाबला सत्ताधारी बीजेपी और कांग्रेस के बीच है। आज यानि शनिवार सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक वोट डाले जाएंगे।
आज शनिवार को गुजरात के कच्छ, सौराष्ट्र और दक्षिणी इलाके समेत 19 जिलों की 89 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होंगे। इन सोमनाथ, भावनगर, भरूच, नर्मदा, सूरत, तापी, कच्छ, मोरबी, जामनगर, सुरेंद्रनगर, देवभूमि द्वारका, राजकोट, बोटाद, पोरबंदर, जूनागढ़, अमरेली, गिर, नवसारी, डांग और वलसाड जिले में होने जा रहे मतदान में 977 उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपने भाग्य अजमा रहे हैं।
चुनाव प्रचार के अंतिम दिन गुरुवार को पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, विजय रूपानी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने जनसभाओं को संबोधित किया। वहीं कांग्रेस की ओर से चुनाव प्रचार में राहुल गांधी के साथ अन्य वरिष्ठ नेताओं ने मोर्चा संभाल रखा था। अन्तिम दिन जहां भाजपा पूरे चुनाव के दौरान पीएम को सुनाए गये अपशब्दों को गिनाने मंे लगी थी। वहीं कांग्रेस अपने वरिष्ठ नेता मणि शंकर अयर के चलते बैक फुट पर नजर आयी। वैसे राहुल गांधी ने डैमेज कंन्ट्रोल करने की कोशिश की लेकिन यह कितना कारगर साबित होता है वह मतदाताओं के वोटों से पता चलेगा। जहां तक प्रथम चरण के 89 सीटों का सवाल है तो पिछले विधानसभा में 67 पर बीजेपी ने जीत दर्ज की थी वहीं केवल 16 पर कांग्रेस ने जीत हासिल की थी। जब कि राष्ट्रवादी कांग्रेस (राकांपा) और जनता दल (युनाइटेड) के खाते में एक-एक सीट आई थीं, जबकि निर्दलीय उम्मीदवार दो सीटों पर विजयी हुए थे लेकिन इस बार भाजपा के लिए इस इतिहास को भी दोहराना इतना आसान नहीं होगा। अगर हार्दिक पटेल समेत तीनों नेताओं पर पटेल समुदाय ने भरोसा जताया तो निश्चय ही भाजपा के लिए यह जीत आसान नहीं होगी। वैसे भाजपा का आज पूरा कुनबा गुजरात में डेरा डंडा डाले है ऐसे में कांग्रेस के लिए भाजपा के सीटों पर जीत हासिल करना कितना संघर्षमय होगा यह देखना दिलचस्प होगा।

 

Share

Related posts

Share