गुजरात में राहुल गांधी की वाहन पर पथराव, काले झंडे दिखाये गये, विरोध में दिल्ली में मार्च

rahul
-इस तरह के विरोध से पीछे नहीं हटने वाले हैं: राहुल गांधी
-बाढ़ पीड़ितों से मिलने गये थे राहुल गांधी
-एसपीजी कर्मी को लगी मामूली चोट
नई दिल्ली। कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी के शुक्रवार को  गुजरात के बाढ़ पीड़ितों के से मिलने के दौरान गुजरात के बनासकांठा में उनके वाहन पर पत्थर फेंके गए, पत्थरबाजी के दौरान राहुल गांधी के वाहन के शीशे टूट गए। वैसे सुरक्षा कर्मियों के मुस्तैदी के वजह से हमले में राहुल गांधी को किसी तरह की चोट नहीं आई है। इस दौरान राहुल गांधी को प्रदर्शनकारियों ने काले झंडे दिखाए। कांग्रेसियों ने इस घटना को भाजपा का हताशा का परिणाम बताते हुए आज विरोध में दिल्ली में मार्च करने का निर्णय लिया है।
बताया जाता है कि इस पत्थरबाजी के विरोध में दिल्ली कांग्रेस के सीनियर नेता अजय माकन की अगुवाई में दोपहर के ढाई बजे तीन मूर्ति से गुजरात भवन तक पैदल मार्च किया जाएगा । वैसे गुजरात सरकार ने इस पुरे मामले की जांच एडिशनल डीजीपी मोहन झा को सौंपी है।
कांग्रेस का आरोप है कि प्रदर्शनकारी पत्थरबाजी के दौरान मोदी-मोदी के नारे लगा रहे थे। जिसके जवाब राहुल गांधी ने कहा कि वो इस तरह के विरोध से पीछे नहीं हटने वाले हैं। कांग्रेस ने इस हमले के लिए बीजेपी का जिम्मेदारा ठहराया है. कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बीजेपी के ‘गुंडों‘ द्वारा इस ‘कायराना‘ हमले को अंजाम देने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि काफिले में शामिल कई कारों को क्षति पहुंची है, उनकी कार के शीशे टूट गए हैं और एक एसपीजी के व्यक्ति को मामूली चोट लगी है।

वाराणसी के कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामसुधार मिश्रा ने कहा कि भाजपा अब पूरी तरह से राजनीति ंिहंसा पर उतर आयी है ओैर वह हर तरह के हथकंडे अपना कर विपक्ष के साथ आम जनता की आवाज को बंद करना चाहती है। आज जहां देश के आधे भाग में बाढ़ से तबाही है वहीं भाजपा उत्तर प्रदेश, गुजरात, बिहार व केरल में विधायकों, एमएलसी की खरीद फरोद व सरकार को तोड़ने में लगी है। अब सरकार का पूरा ध्यान केरल पर है। जिसे वह फतह करना चाहती है।

Share

Leave a Reply

Share