चंडीगढ़ में लड़की से छेड़छाड़ मामले में भाजपा पर हमला तेज

bbbbbb
-पुलिस का राजनीतिक दबाव से इनकार
-राष्ट्रीय महासचिव ने ट्वीट कर बताया कि सुभाष बराला का इस्तीफा नहीं लिया जाएगा
-कांग्रेस ने हरियाणा भाजपा अध्यक्ष के इस्तीफे के साथ पीएम मोदी से मांगा जवाब
नई दिल्ली। चंडीगढ़ में हरियाणा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे द्वारा एक लड़की से की गई छेड़खानी का मामला  अब पूरी तरह से राजनीतिक मुद्दा बन गया है। कांग्रेस व भाजपा अब इस मुद्दे पर पूरी तरह से आमने सामने आ गयी है। कांगे्रस ने इसके लिए पूरे मामले पर राजनीतिक दबाब बनाने की बात कर तत्काल प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला का इस्तीफा की मांग की है। इस पूर मामले पर हरियाणा पुलिस की भूमिका पर भी लगातार सवाल उठ रहे हैं। जिसके बाद सोमवार को आज एसएसपी चंडीगढ़ बकायदा प्रेस कान्फ्रेस कर सफाई देने की कोशिश की।
गौरतलब है कि शुक्रवार की रात एक लड़की ने चंडीगढ़ पुलिस को अपने साथ छेड़खानी और किडनैपिंग की कोशिश की शिकायत की थी। जिसपर तत्परता दिखाते हुए चंडीगढ़ पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर दोंनो युवकों को हिरासत में ले लिया।  लेकिन जैसे यह मामला े चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष के लड़के की जानकारी हुई तो पुलिस के हाथ पावॅ फूलने लगें और जहां अपरहण का प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया था उस धारा को हटा कर बीजेपी अध्यक्ष के बेटे विकास को थाने से ही जमानत दे गयी। जब इसकी भनक मीडिया सहित अन्य राजनीतिक पार्टी को लगी तो चैरतरफा हमला शुरू हो गया। पहले तो मीडिया भी बहुत ज्यादा मुखर नहीं हो पा रहा था कि लेकिन एक लड़की का मामला व देश की जनता की भावना को भापते हुए मीडिया भी पूरी तरह से मुखर हो गयी। इसके पीछे एक कारण यह भी था कि पीड़िता भी पूरी तरह से खुलकर सामने आ गयी। जिससे मीडिया को भी मुखर होना पड़ा।
आज प्रेस कान्फे्रस में चंडीगढ़ के एसएसपी ईश सिंघल ने बताया कि अभी मामले की तहकीकात की जा रही है। उन्होंने बताया कि घटनास्थल के आसपास रोड पर मौजूद हर सीसीटीवी फुटेज को तलाशा जा रहा है। उन्होंने तो किसी भी तरह के दबाब की बात को पूरी तरह से खारिज करते हुए कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो धाराएं बढ़ाई जायेगी। अपने बचाव में उन्होंने दलील दी कि अगर राजनीतिक दबाव होता तो घटना की रात ही एफआईआर दर्ज कैसे हो गई। उन्होंने ये भी कहा कि शिकायत दर्ज होने के बाद आरोपी को गिरफ्तार भी किया गया।
बहरहाल अब जहां कांगे्रस पूरी तरह से हमलावर हो गयी है। वहीं बीजेपी ने सुभाष बराला के इस्तीफे पर अपना रुख साफ कर दिया है। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव ने ट्वीट कर बताया कि सुभाष बराला का इस्तीफा नहीं लिया जाएगा। जबकि वहीं दूसरी तरफ बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर ने भी इस घटना की निंदा की है। ठाकुर ने कहा है कि लड़की पर सवाल उठाना गलत है, इसमें लड़कों पर सवाल उठने चाहिए। इसके साथ ही भाजपा के एक अन्य सांसद ने भी इस्तीफा की मांग की है।

Share

Leave a Reply

Share