Breaking News

जौनपुर: हत्या के एक मामले में असलहा गायब होने में तत्कालीन एसओ पर मुकदमा दर्ज

मोहित श्रीवास्तव
-वर्ष 2004 में हुई हत्या के एक मामले में हुई कार्रवाई
-थानाध्यक्ष हो चुके हैं रिटायर, पुलिस को पता नहीं मालूम

जौनपुर। वर्ष 2004 में हुई हत्या के एक मामले में घटना में प्रयुक्त असलहा गायब होने के मामले में एसपी के आदेश पर तत्कालीन एसओ सूर्य नारायण यादव के विरुद्ध केस दर्ज किया गया है। सीओ सिटी रण विजय सिंह  की तहरीर पर यह कार्रवाई हुई है। असलहा गायब होने का खुलासा तब हुआ, जब विधि विज्ञान प्रयोगशाला से सील मोहर के साथ आया बरामद सामान कोर्ट में खोला गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार लाइन बाजार थाना क्षेत्र में 2004 में हुई हत्या से संबंधित माल एक एसबीबीएल गन व 7 जिंदा कारतूस, 4 फायरसूदा कारतूस सील मोहर कर विधि विज्ञान प्रयोगशाला लखनऊ भेजा गया था। जांच के बाद 25 अक्तूबर 2005 को प्राप्त हुआ। दीवानी न्यायालय के संबधित अदालत में गवाही के समय माल मंगाए जाने और न्यायालय कक्ष में खोलने पर एसबीबीएल गन 11940 के स्थान पर पी 808 और कारतूस पाया गया। इस संबंध में एसपी ने तत्कालीन सीओ सिटी को प्रारंभिक जांच सौंपी। सीओ नृपेंद्र ने जांच कर 12 नवंबर 2017 को रिपोर्ट सौंपी, जिसमें तत्कालीन थानाध्यक्ष सूर्य नारायण यादव को दोषी पाया गया। उसी दौरान एसपी ने मुकदमा दर्ज करने के लिए कहा, लेकिन केस दर्ज नहीं हुआ। मौजूदा एसपी ने मामले की जानकारी होने पर कड़ी आपत्ति जताई। एसपी के आदेश पर सीओ सिटी रणविजय सिंह ने लाइन बाजार थाने में तहरीर देकर केस दर्ज कराया। हैरत की बात यह है कि थानाध्यक्ष सेवानिवृत्त हो चुके हैं और विभाग को उनका पता तक ठीक से नहीं मालूम है।

Share

Related posts

Share