Breaking News

देव दीपावली पर लाखों दीपों से जगमगायी काशी नगरी, पीएम मोदी ने दीप प्रज्ज्वलित कर महोत्सव का किया शुभारंभ

विजय श्रीवास्तव
-दीपों की अलौकिक छटा से सराबोर हुए 84 घाट
-प्रधानमंत्री का वाराणसी का यह 23वां दौरा रहा
-नए कृषि सुधारों से किसानों को नए विकल्प मिले है: मोदी
-सारनाथ में लेजर शो का भी लिया मोदी ने किया अवलोकन

वाराणसी। देव दीपावली के पर्व पर आज मां गंगा का तट लाखों दीपक की अलौकिक छटा से सराबोर हो उठा। लगा जैसे स्वर्ग ही धरा पर उतर आयी हो। इस पर्व के साक्षी स्वंय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रहे। देव दीपावली पर्व का उदघाटन आज मोदी ने पहला दीप जलाकर किया। इसके बाद दीपों के जगमाने का जो सिलसिला शुरू हुआ तो लोंगो की जिधर भी नजर जाती उधर दीप की लहराती लौ दिखायी देती। इस मौके पर पीएम ने मंदिरों की वेबसाइट का भी उद्घाटन किया। इस दौरान मोदी ने सारनाथ में स्थित खण्डहर परिसर में भगवान बुद्ध के जीवन पर आधारित लेजर शो का भी आनन्द लिया। पीएम मोदी ने आज खजुरी मे सभा के दौरान प्रयागराज-वाराणसी 6 लेन हाईवे का लोकार्पण किया।

ऐसी मान्यता है कि देव दीपावली पर देवता स्वर्गलोक से धरती पर पधारते हैं। हालांकि देव दीपावली का आयोजन हर साल होता है लेकिन इस बार का आयोजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी से खास रहा। पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि ऐसा लग रहा है जैसे आज पूर्णिमा पर देव दीपावली मनाती काशी, महादेव के माथे पर विराजमान चंद्रमा की तरह चमक रही है। काशी की महिमा ही ऐसी है। इस बार के पर्व, इस बार की दीपावली जैसे मनाई गई, जैसे देश के लोगों ने लोकल प्रोडक्ट और लोकल गिफ्ट्स के साथ अपने त्योहार मनाए वो वाकई प्रेरणादाई है। लेकिन ये सिर्फ त्योहार के लिए नहीं, ये हमारी जिंदगी का हिस्सा बनने चाहिए।

उन्होंने कहा कि काशी के लिए जब विकास के काम शुरू हुये थे, विरोध करने वालों ने सिर्फ विरोध के लिए विरोध तब भी किया था। जब काशी ने तय किया था कि बाबा के दरबार तक विश्वनाथ कॉरिडॉर बनेगा, भव्यता, दिव्यता के साथ श्रद्धालुओं की सुविधाओं को बढ़ाया जाएगा। विरोध करने वालों ने तब इसे लेकर भी काफी कुछ कहा था।


अपने संबोधन के दौरान पीएम ने कहा – पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आपकी जो लंबे समय से मांग थी, वो पूरी हो गई है। लेजर शो में अब भगवान बुद्ध के करूणा, दया और अहिंसा के संदेश साकार होंगे। ये संदेश आज और भी प्रासंगिक होते जाते हैं। जब दुनिया हिंसा, अशांति और आतंक के खतरे देखकर चिंतित है। उन्होंने कहा कि आज दुनिया हिंसा, अशांति और आतंक के खतरे देखकर चिंतित है। इस दौरान चोरी गयी अन्नपूर्णा की जो मूर्ति काशी से चोरी हो गई थी, उसके वापस आने वह मन्दिर निर्माण की जानकारी को भी लोंगो का शेयर किया।


इस दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी ने सीएम योगी के साथ गंगा में नौकायन कर घाटों की खूबसूरती का नजारा लेने के साथ क्रूज पर भी सवार होकर चेत सिंह घाट पर जहां लेजर शो के जरिए देव दीपावली लुफ्त लिया वहीं इससे पूर्व विश्वनाथ कॉरिडोर का निरीक्षण के साथ काशी विश्वनाथ का दर्शन व दुग्धाभिषेक किया।


इससे पूर्व खजुरी सभा के दौरान किसान आंदोलन की तरफ इशारा करते हुए पीएम ने कहा कि नए कृषि सुधारों से किसानों को नए विकल्प मिले हैं, लेकिन कुछ लोग भ्रम फैला रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि कृषि कानून पर किसानों में भ्रम फैलाया जा रहा है। जिन्होंने किसानों के साथ छल किया है, वे ही अब किसानों में भ्रम फैला रहे हैं। नया कानून किसानों को विकल्प देने वाला है। पीएम ने कहा कि सरकारें कानून-कायदे बनाती हैं, कुछ सवाल स्वाभाविक है यह लोकतंत्र का हिस्सा है। लेकिन पिछले कुछ समय से अलग ही ट्रेंड देखने को मिल रहा है। पहले सरकार एक फैसला नहीं पसंद आता था तो विरोध होता था. मगर अब भ्रम फैलाया जा रहा है कि भविष्य में इसके नतीजे अच्छे नहीं होंगे।
पीएम मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र में 50 किलोमीटर का रास्ता हवाई मार्ग से और 40 किलोमीटर सड़क मार्ग से तय किया। पीएम मोदी पिछली बार फरवरी में वाराणसी आए थे। लॉकडाउन के बाद से वे पहली बार वाराणसी आए हैं। प्रधानमंत्री का वाराणसी का यह 23वां दौरा है।

Share

Related posts

Share