Breaking News

निर्भया काण्ड : 22 जनवरी को होगी निर्भया के दोषियों को फांसी, कोर्ट ने डेथ वारंट किया जारी

विजय श्रीवास्तव
-पटियाला हाउस कोर्ट में निर्भया केस की सुनवाई
-दोषियों की ओर से पेश हुए एमएल शर्मा
-सुनवाई के दौरान निर्भया और मुकेश की मां रो पड़ीं
-जज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोषियों से भी बात की

नई दिल्ली। आखिरकार देश की राजधानी दिल्ली में वर्ष 2012 को हुए निर्भया रेप काण्ड का फैसला पटियाला हाउस कोर्ट ने सुना दिया जिसके तहत चारों अपराधियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी दे दी जायेगी। फैसला सुनाने से पहले जज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोषियों से बात भी बात की। सुनवाई के दौरान निर्भया की मां और दोषी मुकेश की मां कोर्ट में ही रो पड़ीं। वैसे निर्भया मामले में चारों दोषियों अक्षय, मुकेश, विनय और पवन को पहले ही फांसी की सजा दी जा चुकी थी।
गौरतलब है कि देश की राजधानी दिल्ली में साल 2012 में हुए निर्भया रेप कांड के बाद पूरे देश में जनसैलाब विरोध में सडकों पर उतर गया था। पूरे देश में इस घटना को लेकर लोंगो में जबरदस्त गुस्सा था। लोंगो ने बलात्कारियों को फांसी की मांग की थी। गौरतलब है कि इस मामले में काफी समय कानूनी लडाई चली, लेकिन हर जगह आरोपियों को मुंह को खानी पडी। अब निर्भया केस से जुड़ा कोई भी केस दिल्ली की किसी भी अदालत में अब लंबित नहीं है। पिछले 1 महीने के दौरान तकरीबन 3 याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट और पटियाला हाउस कोर्ट से खारिज हो चुकी हैं। सुप्रीम कोर्ट एक दोषी की पुनर्विचार याचिका खारिज कर चुका है। जबकि दिल्ली हाई कोर्ट ने एक और दोषी की उस याचिका को खारिज कर दिया जिसमें उसने खुद को जुवेनाइल बताकर मामले की सुनवाई जेजे एक्ट के तहत करने की गुहार लगाई थी।
आज पुन: मंगलवार को पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान निर्भया की मां और दोषी मुकेश की मां कोर्ट में ही रो पड़ीं। निर्भया मामले में चारों दोषियों अक्षय, मुकेश, विनय और पवन को पहले ही फांसी की सजा दी जा चुकी है। आज सुनवाई के दौरान वकीलों में कई बार तीखी बहस भी हुई। वकील एक दूसरे पर मामले को लटकाने का आरोप लगा रहे हैं.। इस दौरान जज को बचाव करना पड़ा। जज ने कहा कि कोर्ट की व्यवस्था का ख्याल रखें, इस तरह माहौल का ना बिगाड़ें। क्या अब इस देरी को लेकर भी जांच की जाए? मामले की सुनवाई के दौरान निर्भया और मुकेश की मां रो पड़ीं। दोषी मुकेश की मां ने कहा कि वह भी एक मां हैं, मेरी चिंताओं का भी ध्यान रखना चाहिए। जज ने दोनों से चुप रहने की अपील की।

Share

Related posts

Share