Breaking News

फरीदाबाद के डीसीपी विक्रम कपूर ने गोली मारकर की खुदकुशी

ः डीसीपी कपूर ने अपनी रिवॉल्वर को मुंह में डालकर गोली मार की आत्महत्या
ः कारणों का अभी तक नहीं चला है पता
नई दिल्ली। हरियाणा के फरीदाबाद जिले में एनआईटी जोन के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) विक्रम कपूर ने खुद को गोली मार कर आज सुबह बुधवार को 6 बजे आत्महत्या कर ली। विक्रम कपूर ने अपने सरकारी आवास पर आत्महत्या की। मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।
उन्होंने ऐसा क्यों किया इसके कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है। पुलिस ने बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है, घटनास्थल की फरेंसिक जांच कर कारणों का पता लगाने में पुलिस जुट गयी है। पुलिस हर ऐंगल से जांच कर रही है।
न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार विक्रम कपूर ने कथित रूप से अपने आवास पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है। फरीदाबाद के डीसीपी विक्रम कपूर ने अपनी ही रिवॉल्वर से मुंह में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। डीसीपी कपूर के आत्महत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है। पुलिस ने फिलहाल बॉडी को पोस्टमॉर्टम और फरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। डीसीपी कपूर के परिवार और दोस्त घटना के बाद से सकते में हैं। पिछले 2 साल से वह फरीदाबाद में पोस्टेड थे और एक साल बाद ही उनका रिटायरमेंट था।
जानकारी के मुताबिक ड्राइंगरूम में ही डीसीपी कपूर ने आत्महत्या की। डीसीपी एनआईटी विक्रम कपूर ने बुधवार सुबह पुलिस लाइन में स्थित अपने आवास पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। डीसीपी ने गोली अपनी सर्विस रिवाल्वर से करीब 5.45 बजे मुंह के अंदर मारी है, जो खोपड़ी में ऊपर से निकली। उस समय उनकी पत्नी बाथरूम में थी। आवाज सुनकर बाहर आईं और पति को ड्राइंगरूम में खून से लथपथ पाया। पति को इस हालत में देखने के बाद उन्होंने बेटे अर्जुन को जगाया। अभी आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। न ही कोई सुइसाइड नोट मिला है। विक्रम कपूर मूल रूप से अंबाला के रहने वाले थे और हरियाणा पुलिस में इंस्पेक्टर के पद पर भर्ती हुए थे। प्रमोशन पाकर वह आईपीएस बन चुके थे और पिछले दो साल से फरीदाबाद में तैनात थे।

Share

Related posts

Share