Breaking News

बीएचयू प्रकरण को लेकर आक्रोश, संयुक्त संघर्ष समिति ने बैठक कर की निंदा

anil

-26 सितम्बर को सुबह 11 बजे भारत माता मंदिर में प्रतीकात्मक उपवास
– संयुक्त संघर्ष समिति मानवाधिकार आयोग, महिला आयोग को पुरे घटनाक्रम से करायेगा अवगत
वाराणसी। बीएचयू में शनिवार को हुए हिंसक आंदोलन के चलते अब लोंगो को गुस्सा सडक पर दिखने लगा है। रात में बीएचयू कैम्पस में पुलिस द्वारा छात्रों पर लाठी चार्ज व पथराव से राजनीति पार्टी सहित अन्य छात्र संगठन भी मोर्चा खोल दिया है। सपा का आठ सदस्यीय दल कल बीएचयू प्रकरण की जांच कर अपनी रिपोर्ट अपने अध्यक्ष अखिलेश यादव को देगा। इसी क्रम में आज संयुक्त संघर्ष समिति के रामकटोरा स्थित पूर्व एम.एल.सी. अरविंद सिंह के निवास पर बैठक में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में शनिवार की रात छात्र छात्राओं पर हुए बर्बर लाठीचार्ज उत्पीड़न,हिंसा की कठोर शब्दों में निंदा की गयी।
बैठक में मानवाधिकार आयोग, महिला आयोग को पुरे घटनाक्रम से अवगत कराकर जाँच करवाने का फैसला लिया गया। बैठक में छेड़खानी के सवाल पर पिछले तीन दिनों से आन्दोलनरत छात्राओं से कुलपति द्वारा बात न किये जाने को घटिया मानसिकता का परिचायक बताया गया।बैठक में वक्ताओं ने कहा कि 22 सितम्बर की सुबह जब छात्राए एक अपनी साथी के साथ छेड़खानी के सवाल पर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर धरना देना शुरू की तो यह उम्मीद की जा रही थी कि वाराणसी के सासंद और देश के प्रधानमंत्री के यहां पहुचने से पहले कुलपति छात्राओं से बातकर उनकी समस्याओं का समाधान कर लेंगे। परन्तु न उन्होने ऐसा किया और नहीं वाराणसी के सासंद ने छात्राओं के प्रतिनिधि मण्डल को बुलाकर उनकी पीड़ा समझने की कोशिश की। सूबे के राज्यपाल और मुख्यमंत्री भी प्रधानमंत्री के साथ रहें लेकिन इन आन्दोलनकारी बेटियों को उनके हाल पर छोड़ दिया।बर्बरतापूर्वक कारवाई पर कुलपति तथा प्राक्टर का यह कहना कि विपक्षी दल है तथा राष्ट्र-द्रोही लोगों का हाथ है।ये उनकी एक पार्टी विशेष के लिये कार्य करना साबित होता है जो ऐसे पदों पर बैठने वालों के लिये शोभा नहीं देता।
बैठक में निर्णय लिया गया कि विश्वविद्यालय से जुड़े सभी दलों के पूर्व छात्र नेताओं का जल्द ही एक बड़ा सम्मेलन बुलाकर महामना मदन मोहन मालवीय के सपनों को तार तार करने वाले लोगों को मुहतोड़ जवाब दिया जायेगा। बैठक में छात्रों से शांतिप्रिय तरीके से अपना आन्दोलन जारी रखने की अपील की गयी साथ में छात्रों को इस बात का भरोसा दिलाया गया कि ‘संयुक्त संघर्ष समिति‘ आपके साथ है तथा इस घटना विरोध में 26 सितम्बर को सुबह 11 बजे भारत माता मंदिर में प्रतीकात्मक उपवास रखेंगे।
बैठक में पूर्व सांसद ड़ा राजेश मिश्र,पूर्व एम.एल.सी.अरविंद सिंह, पूर्व अध्यक्ष बी एच यू अनिल श्रीवास्तव, आप, पूर्वांचल संयोजक संजीव सिंह , कुंवर सुरेश,ड़ा.सुरेन्द्र प्रताप,काग्रेस जिला अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा,सपा महासचिव जितेन्द्र यादव,ड़ा आनन्द तिवारी,जागृति राही,अनुप श्रमिक,अतहर जमाल लारी,सभासद वरूण सिंह,रजनीश राय,ऐजाज अहमद,दीपक सिंह,अनवर,प्रवीण सिंह बबलू, इत्यादि थे।

Share

Related posts

Share