Breaking News

बैट काण्ड के आरोपी भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय पर गिर सकती है गाज !

विजय श्रीवास्तव
-आकाश विजयवर्गीय ने नगर निगम अधिकारी को बल्ले से पीटा था
-पीएम मोदी की नसीहत के बाद निलंबित कर सकती है बीजेपी
-मोदी ने कहा कि बेटा किसी का हो, ऐसा व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जायेगा
-दिग्विजय सिंह ने कहा कि मोदी में हिम्मत है तो आकाश विजयवर्गीय को पार्टी से निकाल कर दिखाएं

नई दिल्ली। इंदौर से बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय द्धारा विगत दिनों नगर निगम के अधिकारी की जिस तरह से बैट से धुनाई की, उसके बाद जेल से रिहाई के बाद उनके समर्थकों ने खुषी में फायरिंग की, उससे भले ही इन्दोैंर षहर ईकाई गद-गद है। लेकिन वहीं पीएम नरेन्द्र मोदी के नसीहत के बाद आकाष के साथ कुछ अन्य बडबोले नेताओं पर गाज गिरने की पूरी संभावना है। वहीं कांग्रेस के दिग्विजय सिंह ने चुटकी लेते हुए कहा कि मोदी में हिम्मत है तो आकाश विजयवर्गीय को पार्टी से निकाल कर दिखाएं।
गौरतलब है कि इंदौर में एक जर्जर मकान को गिराने पहुची नगर निगम की टीम पर विधायक आकाश विजयवर्गीय ने अपने समर्थकों के साथ हमला कर दिया था। इतना ही नहीं उन्होंने बैट से एक अधिकारी की धुनाई भी कर दी थी। जिसकों लेकर विपक्षियों ने जोरदर हंगामा किया। जिसपर पुलिस ने अधिकारी पर हमले को लेकर विधायक को पकड कर जेल भेज दिया था। इसके बाद कुछ दिनों में ही उनकी रिहाई हो गयी। जिसपर उनके समर्थकों ने स्वागत में फायरिंग भी की वहीं इंदोैर षहर इकाई ने भी आकाष का स्वागत किया। इसको लेकर बैकफुट पर आयी बीजेपी पर कांग्रेस सहित अन्य पार्टियों ने मोर्चा खोल दिया था। आज मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने इस पूरे घटना क्रम की कड़ी आलोचना के साथ ही इतना तक कह दिया कि किसी का भी बेटा हो कार्रवाई होनी चाहिए। इसको लेकर अब कयास लगाये जा रहे हैं कि आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ कड़ी कार्रवाई पर बीजेपी विचार कर रही है। सूत्रों के अनुसार आकाश विजयवर्गीय को कारण बताओ नोटिस भेजने की तैयारी की जा रही है और अगर उसके बाद उन्हें निलंबित भी किया जा सकता है। इतना ही नहीं इस बात की चर्चा है कि इंदौर बीजेपी इकाई के कुछ नेताओं के खिलाफ भी कार्रवाई हो सकती है, जो पूरे घटना क्रम की प्रषंसा करते नजर आ रहे थे। मंगलवार को ही प्रधानमंत्री मोदी ने आकाश विजयर्गीय द्वारा एक अधिकारी को पीटने से जुड़े घटनाक्रम पर गहरा संज्ञान लेते हुए नसीहत दी कि ‘बेटा किसी का हो, मनमानी नहीं चलेगी। वैसे यह दिगर बात है कि प्रधानमंत्री ने इस संदर्भ में किसी का नाम नहीं लिया। सूत्रों ने बताया कि भाजपा संसदीय पार्टी की बैठक में प्रधानमंत्री ने मंगलवार को कहा, ‘बेटा किसी का हो, ऐसा व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार, जो पार्टी का नाम कम करता है, अस्वीकार्य है। उन्होंने कहा कि अगर किसी ने कुछ गलत किया है तो कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि यह सभी पर लागू है।
गौरतलब है कि आकाष विजयवर्गीय विधायक कैलाष विजयवर्गीय के बेटे हैं। सबसे हैरत की बात यह रही कि जेल से जमानत पर छूटने के बाद आकाश विजयवर्गीय ने अपने कृत्य पर कोई अफसोस न करते हुए कहा था कि वह जनता की सेवा करते रहेंगे। वहीं भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी। उन्होंने यह भी कहा था, आकाश और कमिश्नर दोनों कच्चे खिलाड़ी हैं। यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं था लेकिन इसे बड़ा बनाया गया। मुझे लगता है कि अधिकारियों को अहंकारी नहीं होना चाहिए।

Share

Related posts

Share