Breaking News

ब्रेंकिग न्यूज: अमेरिका ने अफगानिस्तान में आतंकियों पर गिराया 10 हजार किलों का बम, 20 भारतीयों के मारें जाने की आंशका

tramp
-अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई
-ट्रंप ने कहा कि हमें हमारी सेना पर गर्व
नई दिल्ली। अमेरिका ने आईएसआई के खिलाफ अभी तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए पूर्वी अफगानिस्तान के नंगारहर में अपने सबसे बड़ा गैर परमाणु बम जीबीयू-43 गिराया है। करीब 21,000 पाउंड (9,797 किलो) वजनी इस बम को वहां “मदर ऑफ ऑल बॉम्ब“ के नाम से जाना जाता है। अमेरिका के इस हमले से आतंकवादियों में खलबली है। इस हमले से पूरा विश्व भी सकते में है। इस हमले में 20 भारतीयों के भी मारें जाने का अंदेशा है। मृतकों में बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं। हालांकि इनके मारे जाने की अभी तक पुष्टि नहीं हो पायी है।
अमेरिकी सेना ने लडाई के लिए तैनात अपना अब तक का सबसे बडा गैर परमाणु बम पाकिस्तानी सीमा के पास पूर्वी अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट सुरंग परिसर में कल गिराया। अमेरिकी सेना के मुताबिक, स्थानीय समय के अनुसार शाम 7.32 बजे गिराए। इस सबसे बड़े गैर परमाणु बम के जरिये उन गुफाओं को निशाना बनाया गया, जहां इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने पनाह ले रखी थी। मार्च 2003 में इराक युद्ध शुरू होने से पहले जीपीएस से संचालित इस बम का परिक्षण किया गया था। वहीं व्हाइट हाउस के प्रवक्ता सॉन स्पाइसर ने कहा, “हमने आईएसआईएस लड़ाकों द्वारा इस्तेमाल की जा रही गुफाओं और सुरंगों को निशाना बनाया है। आम नागरिकों को कम से कम नुकसान हो, यह सुनिश्चित करते के लिए इस हमले से पहले हमने सभी सुरक्षात्मक उपाय किए थे।“
अमेरिकी सैन्य मुख्यालय पेंटागन के प्रवक्ता एडम स्टंप ने कहा, “आतंकियों के खिलाफ लड़ाई में पहली बार इस तरह के बम का इस्तेमाल किया गया।“ उन्होंने बताया कि अमेरिकी फायटर जेट के जरिये नंगारहर में आंतकियों की गुफाओं पर यह बम गिराया गया। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि इस हमले से कितना नुकसान हुआ है।
विदेशी मीडिया में छपे खबरों के अनुसार ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, कि यह वास्तव में एक सफल अभियान रहा. हमें हमारी सेना पर गर्व है। ट्रंप ने कहा, कि मुझे नहीं पता कि इससे उत्तर कोरिया को संदेश मिलता है या नहीं। इससे कोई अंतर नहीं पडता। उत्तर कोरिया एक समस्या है। इस समस्या का समाधान निकाला जाएगा। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बम अफगानिस्तान में स्थानीय समयानुसार शाम करीब सात बजे गिराया गया।

Share

Related posts

Share