अपडेट-मुजफ्फरनगर रेल हादसा: रेल पटरी उस पर चल गयी ट्रेन, 23 मरें व 100 से अधिक घायल

rail 2
-कोच काटकर निकाले जा रहे हैं लोग
-12 डिब्बे पटरी से उतर गये
लखनऊ/मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर जिले में पुरी से हरिद्वार जा रही कलिंग उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन (नंबर 18477) मुजफ्फरनगर के खतौली रेलवे स्टेशन के पास पटरी से उतर जाने से हुए हादसे में जहां 23 लोंगो की मौत हो गयी वहीं 100 लोंगो के घायल होने की जानकारी है। हादसा इतना भंयकर था कि ट्रेन के करीब दर्जन भर डिब्बे पटरी से उतरकर अगल-बगल के घरों और एक स्कूल में घुस गए। लोंगो को निकालने के लिए डिब्बे को काटना पडा। हादसा आज शाम 5 बजकर 46 मिनट पर हुआ। राहत व बचाव का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है।इस रेल हादसे के पीछे बड़ी लापरवाही की भी बात सामने आ रही है। घटनास्थल के पास पटरियां कटी हुई हैं और वहां से हथौड़े, रिंच और अन्य औजार मिले हैं। बताया जा रहा है कि मुजफ्फरनगर के खतौली में ट्रैक पर मरम्मत का काम चल रहा था। ऐसे में फिर सवाल उठ रहा है कि ट्रेन को उक्त ट्रैक पर जाने क्यों दिया गया?

rail 1
प्राप्त जानकारी के अनुसार आज पुरी से हरिद्धार जा रही कलिंग उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन (नंबर 18477) मुजफ्फरनगर के खतौली रेलवे स्टेशन के पास पटरी से उतर गई। पटरी से उतरने के बाद रेल के कई कोच एक दूसरे में घुस गए। कई डिब्बे एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गए। पटरी से उतरे डिब्बों में यात्री फंसे हुए थे। हादसे के बाद चारों तरफ चीख पुकार मच गयी. सूचना मिलते ही रेलवे प्रशासन में हड़कम्प मच गया। सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस प्रशासन की टीम राहत एवं बचाव कार्य में जुट गयी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि ट्रेन जैसे ही खतौली रेलवे स्टेशन के पार निकली तभी तीसरे नंबर की बोगी पटरी से उतर गई और इसके बाद करीब आठ डिब्बे पटरी से उतर गए। लोंगो को निकालने के लिए डिब्बा काटने तक पडा। इसके साथ क्रेन की मदद ली जा रही है। गाजियाबाद से एनडीआरएफ की टीमों को भी रेस्क्यू के लिए भेजा गया है। घटना के बाद मेरठ, अंबाला, सहारनपुर ट्रैक को बंद कर दिया गया है। रेलवे और स्थानीय प्रशासन ने हादसे में रेस्क्यू और राहत कार्यों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किए हैं।

railway-
घायलों को स्थानीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है. फिलहाल बचाव एवं राहत कार्य जारी है. हादसे के बाद ट्रेन यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है. दर्जनों गाड़ियां बीच रास्तों में रोक दी गयी हैं। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुरेश राना और सतीश महाना को मुजफ्फरनगर में घटनास्थल पर पहुंचने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही योगी ने स्थानीय जिलाधिकारी से भी बात की है। और घायलों को सभी संभव मदद मुहैया कराने का निर्देश दिया है। इसके अलावा अस्पतालों को फ्री चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

Share

Leave a Reply

Share