Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज: बक्सर के डीएम मुकेश पाण्डेय ने गाजियाबाद में ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

dm
-4 अगस्त को हुई थी बक्सर में पोस्टिंग
-मरने से पहले भेजा वाट्सएप मेसेज
-सुसाइड नोट में मिले चार फोन नंबर
नई दिल्ली। बिहार के बक्सर जिले के डीएम मुकेश पांडे ने गुरुवार रात यूपी के गाजियाबाद में ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। जानकारी के मुताबिक जिलाधिकारी मुकेश पांडेय का शव गाजियाबाद रेलवे स्टेशन के पास पाया गया है। लीला पैलेस होटल से मिले सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि, ‘‘मैं अपनी पत्नी और अपने मां-बाप के बीच हो रहे झगड़े से बेहद परेशान हूं, इस वजह से यह कदम उठा रहा हूं‘‘। गुरुवार को मुकेश के ससुर ने सरोजिनी नगर पुलिस स्टेशन में उनके लापता होने की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। मुकेश नारायण की 4 अगस्त को बक्सर में पोस्टिंग हुई थी। उन्हें एक तीन माह की बच्ची भी है। बताया जाता है कि वह अस्पताल में भर्ती अपने मामा को देखने दिल्ली गये थे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बक्सर के डीएम और 2012 बैच के आईएएस मुकेश पांडे का शव गाजियाबाद स्टेशन से 1 किलोमीटर दूर कोटगांव के पास रेलवे ट्रैक पर कटा हुआ मिला। किस ट्रेन से और कितने बजे कटे यह अभी साफ नहीं हो पाया है, जीआरपी का कहना है कि शुरुआती जांच में ये आत्महत्या का मामला है। आज मुकेश पाण्डेय का पोस्टमॉर्टम होगा तब जाकर स्पष्ट स्थिति पता चल सकेगी। बक्सर में वे  छुट्टी का प्रभार बक्सर के उप विकास आयुक्त मोबिन अली अंसारी को सौंप कर दिल्ली गये थे।
जानकारी के मुताबिक वे पहले जनकपुरी के एक मॉल की 10वी मंजिल पर सुसाइड करने पहुंचे। फिर सुसाइड से पहले व्हाट्सएप करके अपने किसी जानकर को सुसाइड का मैसेज भेजा। परिचित ने तत्काल इसकी सूचना दिल्ली पुलिस को दी। सूचना पर तत्काल हरकत में आयी दिल्ली पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन वे वहां नहीं मिले। मुकेश पांडे बुधवार देर रात बक्सर से दिल्ली के लिए निकले थे। मुकेश के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उन्होंने अपनी मर्जी से खुदकुशी करने की बात लिखी है । पुलिस सूत्रों की मानें तो सुसाइड नोट में चार फोन नंबर भी लिखे हुए हैं। यह सभी नंबर परिवार वालों के हैं. सुसाइड नोट में एक जगह लिखा है कि विस्तृत सुसाइड नोट बैग में है। उन्होंने लिखा, ‘वह बैग दिल्ली के लीला पैलेस होटल के कमरा नंबर-742 में है. मेरे बैग में एक और सुसाइड नोट है, जिसमें पूरी जानकारी है।‘ लीला होटल से मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि ‘‘मैं अपनी पत्नी और अपने मां-बाप के बीच हो रहे झगड़े से बेहद परेशान हूं, इस वजह से यह कदम उठा रहा हूं‘‘। पुलिस के मुताबिक, सबसे पहले वो शाम 6 बजे दिल्ली के जनकपुरी स्थित डिस्ट्रिक्ट सेंटर खुदकुशी करने पहुंचे। यहां पर उन्होंने परिजनों को व्हाट्सएप करके खुदकुशी करने की जानकारी दी। इसके बाद आनन-फानन में पुलिस वहां पहुंची तो मुकेश पांडे अपना फोन होटल में छोड़कर गायब हो गए। पुलिस वहां पहुंची लेकिन मुकेश का कुछ पता नहीं चला। रात करीब साढ़े आठ बजे गाजियाबाद में रेलवे ट्रैक पर उनका शव बरामद हुआ। वर्ष 2012 में 14वीं रैंक लाने वाले मुकेश पांडे को साल 2015 में संयुक्त सचिव रैंक में प्रमोशन मिला था। फिलहाल पुलिस मामले की बारीकी से जांच कर रही है।

Share

Related posts

Share