ब्रेकिंग न्यूज: बाबा रहीम दोषी करार, हिंसा, तीन की मौत, फायरिंग, मीडिया के वाहन के साथ अन्य वाहनों पर तोड-फोड़

dera_

–पंजाब के पांच जिलों में कप्र्यू

–पंचकूला में हिंसा में तीन की मौत
-मुक्तसर के मलोट रेलवे स्टेशन पर आगजनी
-मनसा में दो गाडियों को फूंका
-पंचकूला में आसूं गैस छोड़े गये
-पंजाब में जगह-जगह हिसंा
-बाबा को हेलीकाप्टर से अंबाला में सेन्ट्रल जेल भेजा जा रहा है
-मीडिया में ओबी वैन को फूंका गया
-कई इलाकों में डेरा समर्थकों का पथराव
-15 वर्ष पुराने केस में सीबीआई कोर्ट का फैसला
-कोर्ट में बाबा को हिरासत में ले लिया गया
-बाबा को अम्बाला के सेन्ट्रल जेल जाया गया
-समर्थकों ने पुलिस को पीछे खदेड़ा
नई दिल्ली। आखिरकार डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को साध्वी से यौन शोषण का दोषी करार दिया गया है। कोर्ट अब 28 अगस्त को उनकी सजा पर सुनवाई करेगा। फैसला सुनते ही राम रहीम कोर्ट में अपने होश खो बैठे। कोर्ट में राम रहीम को उनको हिरासत ले लिया गया। उन्हें कोर्ट से सीधा जेल जा रहे हैं। कोर्ट ने बलात्कार के आरोप में सजा दी गयी है।
उनके फैसले से उनके समर्थकों में किस तरह का रियेक्ट होगा यह देखना होगा। वैसे कई इलाकों में कप्र्यू लागू कर दिया था।  हरियाणा और पंजाब में तो समर्थकों की भीड़ ने सरकार के हाथ-पैर फुला दिए हैं। खबर है कि जमानत मिलने तक जेल मे रहेंगे राम रहीम।
कोर्ट इस मामले में राम रहीम को 7 साल की सजा सुना सकती है। नियमों के मुताबिक अगर किसी अभियुक्त को पांच साल से ज्यादा की सजा सुनाई जाती है तो उसे ऊपरी कोर्ट से जमानत लेनी होती है। यानी बाबा राम रहीम को अब हाईकोर्ट से जमानत लेनी होगी। जब तक जमानत नहीं मिलती तब तक उन्हें जेल में ही रहना होगा।
गौरतलब है कि सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ ये मामला तब चर्चा में आया था जब अप्रैल 2002 में एक साध्वी ने चिट्ठी लिखकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को यौन शौषण की शिकायत भेजी। हाईकोर्ट ने इस चिट्ठी के तथ्यों की जांच के लिए सिरसा के सेशन जज को भेजा और इसके बाज इसी साल दिसंबर में सीबीआई ने राम रहीम पर धारा 376, 506 और 509 के तहत मामला दर्ज कर लिया।

Share

Leave a Reply

Share