भारत का मिग विमान ध्वस्त, एक भारतीय पायलट लापता : विदेश मंत्रालय

air

न्यूज डेस्क
-भारत ने माना कि उसका एक पायलट लापता है और जवाबी हमले में एक मिग विमान ध्वस्त हो गया है
-बार्डर पर हालत बेहद तनावपूर्ण
-वैसे पाक ने दो विमानों के गिरानें का दावा किया है
नई दिल्ली। भारत व पाकिस्तान बार्डर पर अब हालात काफी खराब हो चुके हैं। एक ओर जहां भारतीय वायुसेना ने भारतीय सीमा में घुसने वाले पाक वायुसेना के लडाकू विमान एफ-16 को मार गिराया वहीं भारत का भी एक विग विमान जवाबी हमले मे ध्वस्त हो गया। इसके साथ ही एक भारतीय पायलट अभी भी लापता है। जिसकी पुष्टि आज विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने प्रेस कान्फं्रेस के दौरान की। वैसे पाक ने दो भारतीय विमानों के गिराने का दावा किया है।
26 को भारत के वायुसेना के पाक में घुस कर आतंकवादी ठिकानों पर हमलें के बाद से हालात बेहद तनाव पूर्ण हो चुके हैं। पाक जहां कल से बार्डर पर लगातार फायरिंग कर रहा हैं वहीं आज उसके विमानों ने भारतीय सीमा में घुसने का प्रयास किया, जिसपर भारतीय वायुसेना ने पाक के एक एफ-16 विमान को मार गिराया। जिसपर बौखलाये पाक ने भी भारतीय वायु सेना के एक विग विमान पर हमला कर ध्वस्त कर दिया है, साथ ही उसके पायलट को अपने कब्जें में लेने का दावा किया है। वैसे इस सन्दर्भ में भारत के विदेश मत्रालय ने भी माना है कि – हमारा एक पायलट गायब है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि भारत की एयरस्ट्राइक के जवाब में पाकिस्तान ने एक्शन लिया. भारत ने पाकिस्तान के एक्शन का कड़ा जवाब दिया और उनके लड़ाकू विमान को मार गिराया. हालांकि, इस कार्रवाई में भारत का एक मिग विमान ध्वस्त हो गया है और हमारा एक पायलट लापता है। पाकिस्तान का दावा है कि भारतीय पायलट उनकी हिरासत में है, हम अभी इसकी जांच कर रहे हैं. विदेश मंत्रालय की प्रेस ब्रीफिंग में रवीश कुमार के साथ एयर वाइस मार्शल आर. जी. के कपूर भी मौजूद रहे। विदेश मंत्रालय ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हम अब भी अपने पायलट का पता लगाने में जुटे हैं। पाक का दावा है कि हमारे एक पायलट उसके कब्जे में है. हम पाकिस्तान के दावे की पड़ताल कर रहे हैं।
बार्डर पर तनाव को देखते हुए आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आवास पर मोदी की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई। बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल, रॉ प्रमुख, गृह सचिव और अन्य प्रमुख अधिकारी शामिल हुए. करीब 20 मिनट तक यह बैठक चली।

Share

Related posts

Share