Breaking News

भारत की पहली मेड-इन-इंडिया “मेधा“ ट्रेन को सुरेश प्रभु ने हरी झंडी दिखा कर किया रवाना

rail
-लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) से चलने वाली यह पहली स्वदेशी लोकल ट्रेन
-110 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी
मुंबई। भारत में विकसित और निर्मित की गई पहली ट्रेन का उद्घाटन आज मुंबई में रेल मंत्री सुरेश प्रभु करेंगे। इस ट्रेन का नाम “मेधा“ रखा गया है। रेल मंत्री इस ट्रेन को मुंबई के चर्चगेट से लगभग 3 बजे हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) से चलने वाली यह पहली स्वदेशी लोकल आज से वेस्टर्न रेलवे पर दौड़ेगी।
आज रेल मंत्री सुरेश प्रभु मेड-इन-इंडिया ट्रेन का उद्घाटन रिमोर्ट से किया। इसके अलावा, केंद्रीय मंत्री अन्य स्टेशनों पर वाई-फाई, लॉन्ड्री जैसी नई सेवाओं का भी उद्घाटन किया। मेधा लोकल के हुए सभी ट्रायल सफल रहे और अब कमिश्नर ऑफ रेल सेफ्टी (सीआरएस) ने भी इस स्वीकृति दे दी थी। वेस्टर्न रेलवे पर पिछले 2 वर्षों में कई बदलाव हुए हैं। इसमें बॉम्बार्डियर रेक का सर्विस में शामिल होना भी एक बड़ा बदलाव है।
वर्तमान में मध्य और पश्चिम रेल पर परिचालित होने वाली लोकल चैन्नई स्थित इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) में तैयार होती है। इन लोकल ट्रेनों में इलेक्ट्रिक तकनीकी समेत अन्य तकनीकी संबंधी काम सीमेंस और बॉम्बार्डियर कंपनियों की देख रेख में होता है। ये कंपनियां विदेशी है। मेक इन इंडिया के तहत देश की पहली स्वदेशी लोकल श्मेधाश् हैदराबाद मेधा सर्वो ड्राइव्स फर्म द्वारा प्रायोजित है और चेन्नई कोच फैक्ट्री में निर्मित है। यह रेक मुंबई सेंट्रल कार शेड में खड़ी है।
इस ट्रेने की क्या है खासियत जानिए-
-इस ट्रेन में 6,050 यात्रियों की क्षमता होगी।
-ट्रेन में कुल 1,168 सीट उपलब्ध होगी।
-यह ट्रैक पर 110 किमी प्रति घंटा की रफ्तार दौड़ेगी।
-ट्रेन में फ्रेश एयर कूलिंग क्षमता 16,000 प्रति घंटा मीटर क्यूबिक है।
-रिजेनरेटड ब्रेकिंग सिस्टम युक्त यह रेक 30 से 35 प्रतिशत बिजली परिचालन के दौरान बचा सकती है।
-रेलवे अधिकारी के मुताबिक मेड-इन-इंडिया ट्रेन श्मेधाश् के निर्माण में लगभग 43.23 करोड़ रुपए की लागत आई है। जबकि विदेश से खरीदी जाने वाली बॉम्बार्डियर ट्रेन की कीमत 44.36 करोड़ रुपए है। इसका नाम मेधा रखा गया है।

Share

Related posts

Share