Breaking News

मध्य प्रदेश-मिजोरम में आज चुनाव, सारी पार्टियों ने झोंकी अपनी पूरी ताकत

2018_11image
राजनीति डेस्क
इंदौर में EVM की खराबी के कारण मतदान रुका
-मिजोरम में 40 विधानसभा सीटों पर मतदान हो रहा है.
-230 सीटों पर जनता करेगी प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला
-कुल 5 करोड जनता 2,899 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेगी
-भाजपा ने जहां 230 पर वहीं कांग्रेस ने 229 पर उतारें अपने प्रत्याशी
-कांग्रेस ने एक सीट अपने सहयोगी शरद यादव को दी
नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में आज विधानसभा के लिए 8 बजे से मतदान शुरू हो गया। मध्यप्रदेश की कुल 5 करोड जनता 2,899 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेगी। आज 230 सीटों पर चुनाव होने हैं। मतदान केन्द्रों पर सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक वोट डाले जाएंगे, जबकि बालाघाट जिले की तीन नक्सल प्रभावित विधानसभा सीटों पर सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक ही मतदान होगा।
1 to 6 dec 1
मध्य प्रदेश में इस बार भाजपा व कांग्रेस के बीच जबरदस्त मुकाबला है। अगर राजनीति विशेषज्ञों की बात की जाए तो इस बार परिवर्तन के आसार नजर आ रहे हेैं। वैसे यह तो रिजल्ट आने के बाद ही पूर्ण रूप से सामने आयेगा। वैसे अन्य पार्टियां भी मैदान हैं, अगर बसपा, सपा, आप के साथ कुछ सीटों पर निर्दलियों के मजबूती से लडते हैं तो इसका सीधा फायदा भाजपा को मिलेगा। आप ने तो 208 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार दिए है। बीएसपी 227, शिवसेना 81 और सपा 52 सीटों पर चुनावी मैदान में है। वहीं भाजपा ने पूरे 230 पर अपने प्रत्याशी उतारें है। जबकि कांग्रेस ने 229 पर वहीं एक सीट अपने सहयोगी शरद यादव के लोकतांत्रिक जनता दल के लिये छोड़ी है। इस चुनाव में अगर विखराव की स्थिति बनती है तो अप्रत्याशित रिजल्ट भी दे सकती है। वैसे भाजपा-कांग्रेस इस बार अपने पूरे जोश के साथ इस बार मैदान में उतरी है। खैर किसकी सरकार मध्यप्रदेश में बनेगी यह तो 11 दिसम्बर मतगणना के बाद ही पता चल पायेगा।
UPTET NEW 250
राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी एल कांता राव ने बताया कि इस चुनाव के लिए 1,094 निर्दलीय उम्मीदवारों समेत कुल 2,899 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें से 2,644 पुरूष, 250 महिलाएं और पांच ट्रांसजेंडर शामिल हैं. उन्होंने बताया कि पूरे राज्य में 65,367 मतदान केंद्र बनाये गए हैं। सभी मतदान केन्द्रों पर मतदान के लिये EVM के साथ वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा। राव ने बताया कि राज्य में शांतिपूर्ण, स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए 1.80 लाख सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं, जिनमें केन्द्रीय और राज्य के सुरक्षाकर्मी शामिल हैं।

Share

Related posts

Share