Breaking News

ममता ने हाशिए पर आ चुकी महिलाओं में अलख जगाने का कार्य किया है: पुलकित खरे

mamta 1
-ममता ने जागृति प्रोजेक्ट लांच कर महिलाओं में जागरूकता का लिया संकल्प
-नेसले के सहयोग से जागृति प्रोजेक्ट अब वाराणसी में भी करेगी काम
वाराणसी। देश में लोककल्याणकारी योजनाओं की एक लम्बी सूची है  लेकिन इसके बावजूद आज विशेष कर ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाएं व  लड़कियां कष्ट का जीवन व्यतीत कर रही हैं। उन्हें आज कुपोषण तरह-तरह की बीमारियों व गर्भ के दौरान आये दिन परेशानी से गुजरना पड़ता है। यह सब केवल जागरूकता के अभाव के चलते हो रहा है। आज इस दिशा में ममता संस्था देश के कई राज्यों में इस दिशा में सराहनीय कार्य कर रही है। जिनसे लाखों की संख्या में हाशिए पर आ चुकी महिलाएं व लड़कियां आज विकास की मुख्य धारा से जुड़ कर न सिर्फ अपना तथा अपने परिवार को दिशा देने का काम कर रही हैं वरन् समाज में एक अलख जगाने का निरन्तर कार्य कर रही हैं।
उक्त बातें आज कैण्ट स्थिति एक होटल में ममता हेल्थ इंस्टिट्युट फाॅर मदर एण्ड चाइल्ड  के तत्वावधान व नेसले इंडिया के सहयोग से जागृति प्राजेक्ट के लांचिग के अवसर पर आयोजित जिला स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यशाला में मुख्य अतिथि के पद से सम्बोधित करते हुए मुख्य विकास अधिकारी, वाराणासी पुलकित खरे ने कही। उन्होंने कहा कि  यह संस्था निश्चय ही समाज के उन पिछड़े व हाशिए पर जीवन व्यतीत करने वालों के लिए एक मील का पत्थर साबित होगी। श्री  खरे ने किशोर-किशोरियों, युवा दम्पत्ति, गर्भवती माता, धात्री महिलाओं के व्यवहार में परिवर्तन लाने के लिये किये जाने वाले प्रयासों सराहनीय बताया।

mamta 2
गौरतलब है कि ममता हेल्थ इस्टीयूट फाॅर मदर एण्ड चाइल्ड विगत् 25 वर्षों से भारत के 19 राज्य व  नेपाल, बांग्लादेश, इण्डोनेशिया, ब्रुंडी ;अफ्रिका में माॅं-बच्चे व किशोर-किशोरियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिये कार्य कर रही है। इसी संदर्भ में वाराणासी जिले के दो ब्लाॅक- हरहुआ और बडागांव ब्लाॅक में 1-1 लाख की जनसंख्या के साथ  माॅं-बच्चे व किशोर-किशोरियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिये परियोजना का संचालन किया जा रहा है।
उक्त अवसर पर ममता के डिप्टी डारेक्टर फैयाज अख्तर जी ने ममता संस्था के विषय में संक्षिप्त में जानकारी देते हुए प्रोजेक्ट जागृति के तहत किशोर-किशोरीयों, युवा दम्पत्ति, गर्भवती माता, धात्री महिलाओं के व्यवहार में परिवर्तन लाने के लिये किये जाने वाले प्रयासों पर उपस्थित लोगों का ध्यान आकृष्ट किया। उक्त कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के ए0सी0एम0ओ0 डाॅ0 ए0के0 गुप्ता , ए0सी0एम0ओ0 व डा0 एस0 मौर्या ने कहा कि ममता वाराणासी जिले में कुछ वर्षों से कार्य कर रही है, जिसने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य के मुद्दों पर बहुत जागरुकता की है, मै ममता के कार्यों से प्रभाभिवत हूं। इस दौरान श्रीमती सुषमा सिंह, सी0डी0पी0ओ0, रिपुंजय श्रीवास्तव, जिला कार्यक्रम अधिकारी, एन0एच0एम0 ने प्रोजेक्ट जागृति में अपना पुरा सहयोग देने के लिये आश्वस्त किया।

mamta 3
इस अवसर पर नेसले इंडिया के प्रतिनिधि समर निगम जी ने नेसले द्वारा 7 राज्यों में संचालित स्वास्थ्य कार्यक्रमों की जानकारी दिया।
डाॅ0 बी0बी0 सिंह- सी0एम0ओ0, वाराणासी व डाॅ0आर0के0 सिंह- अधिक्षक, सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र बडागाॅंव-सी0डी0पी0ओ0, बडागांव ब्लाॅक ने भी इस कार्यशाला में प्रतिभाग किया। वाराणासी जनपद के हरहुआ और बडागांव ब्लाॅक से आये हुए 40 ग्रामों के ग्राम प्रधान, आशा, आंगनवाडी ने प्रतिभाग किया। अंत में ममता हेल्थ इस्टीयूट फाॅर मदर एण्ड चाइल्ड की राज्य कार्यक्रम संमन्वयक डाॅ0 प्रीति वर्मा, लखनऊ व सीनियर प्राजेक्ट मैनेजर वाराणसी विनोद प्रधान ने आये हुये सभी प्रतिभागियों के प्रति धन्यवाद किया।

Share

Related posts

Share