Breaking News

महागठबंधन का बड़ा मास्टरस्ट्रोक: वाराणसी में अब मोदी को टक्कर देंगे महागठबंधन के प्रत्याशी बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव

विजय श्रीवास्तव
-सपा ने अपना प्रत्याशी बदला
-आम आदमी पार्टी ने भी दिया तेज बहादुर का समर्थन
-कांग्रेस के अजय राय ने आज पर्चा दाखिल किया
वाराणसी। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी के वाराणसी संसदीय क्षेत्र से चुनाव न लडने से एक तरफा हो चले चुनाव के रूख को आज सपा ने दिलचस्प लडाई में बदल दिया। सपा ने आज नामांकन के अन्तिम दिन अपने पूर्व प्रत्याशी शालिनी यादव को बदल कर बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर को अपना प्रत्याशी को बना दिया और आनन फानन में आज समाजवादी पार्टी के टिकट पर तेज बहादुर यादव ने अपना नामांकन दाखिल भी कर दिया। हैरत की बात यह रही कि आम आदमी पार्टी ने भी तेज बहादुर यादव का समर्थन कर दिया है। वहीं दूसरी ओर आज कांग्रेस की तरफ से पूर्व विधायक अजय राय ने अपना पर्चा दाखिल किया।
सपा के मास्टरस्ट्रोक से अब वाराणसी संसदीय सीट एक बार फिर चर्चा में गया। एक ओर जहां पीएम मोदी अपने को देश का चैकिदार के रूप में प्रचारित करते रहे हैं वहीं अब तेज प्रताप यादव अपने को असली चैकिदार के रूप में बता कर लडाई को दिलचस्प बना दिया है। वैसे सपा का यह मास्टरस्ट्रोक की हवा सुबह तक किसी मीडिया हाउस को नहीं थी लेकिन आज दोपहर होते-होते सपा इस मास्टरस्ट्रोक ने जहां मायूस हो चले सपा व बसपा कार्यकर्ताओं में जान फूंक दी वहीं भाजपा को चिन्ता में डाल दिया। वैसे तेज बहादुर यादव पहले प्रधानमंत्री के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ रहे थे लेकिन सोमवार को तेज बहादुर यादव ने समाजवादी पार्टी के टिकट पर अपना नामांकन दाखिल किया। वह अब गठबंधन के उम्मीदवार होंगे। साथ ही साथ आम आदमी पार्टी ने भी तेज बहादुर यादव का समर्थन कर दिया है।
गौरतलब है कि बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव ने 2017 में एक वीडियो जारी किया था, जिसमें उन्होंने जवानों को मिलने वाले खाने की क्वालिटी को लेकर शिकायत की थी। जिससे काफी हो हल्ला मचा और फिर उस विवाद के बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था। तेज बहादुर यादव ने ऐलान किया है कि वह भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने तब कहा कि मैंने भ्रष्टाचार का मामला उठाया लेकिन मुझे बर्खास्त कर दिया गया। अगर तेज बहादुर यादव सहीं ढंग से सेना में व्याप्त भ्रष्टाचार को उठाने में सफल रहे तो यह लडाई दिलचस्प हो सकती है क्योंकि भाजपा राष्ट्रवाद व सेना पर अपना विशेष फोकस कर रही है।
वहीं दूसरी ओर कांग्रेस की ओर से अजय राय, पूर्व जस्टिस एस. कर्णन, तमिलनाडु के कई किसान चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन अगर आने वाले दिन में कांग्रेस सहित अन्य लोग भी अगर तेज प्रताप को अपना समर्थन कर दे ंतो कोई आश्चर्य नहीं होगा। वैसे अभी तक केवल आप ने अपने समर्थन देने की घोषणा की है अन्य किसी ने नहीं की है।

Share

Related posts

Share