Breaking News

महात्मा गांधी के पौत्र गोपालकृष्ण गांधी होंगे विपक्ष के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार

dddddd
-लालू यादव व बिहार के सीएम नीतिश बैठक में नहीं आये
-1968 बैच के आइएएस अधिकारी रहे हैं
नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति पद के लिए आज विपक्षी दलों ने दिल्ली में बैठक कर अपना उम्मीदवार चुन लिया। 18 दलों की मौजूदगी में आज संसद में हुई बैठक में इस पद के लिए विपक्ष ने महात्मा गांधी के पौत्र गोपाल कृष्ण गांधी के नाम की घोषणा की विधिवत घोषणा कर दी। वैसे इस बैठक में न तो लालू यादव सरीक हुए और नहीं बिहार के सीएम नीतिश कुमार।
गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार चयन में देरी से सबक लेते हुए इस बार विपक्ष ने पहले उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। देरी की वजह से विपक्ष की एकता में फूट पड़ गई और जेडीयू ने एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के समर्थन की घोषणा कर दी। इसको देखते हुए पहले ही उम्मीदवार के चयन के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में आज मंगलवार को 18 विपक्षी दलों के साथ संसद भवन में बैठक हुई। इस महत्वपूर्ण बैठक में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, ए के एंटनी, डेरेक ओ ब्रायन (टीएमसी), जयप्रकाश नारायण यादव (आरजेडी), नरेश अग्रवाल (एसपी), प्रफुल्ल पटेल (एनसीपी), तारिक अनवर (एनसीपी), एलांगवन (डीएमके), शरद यादव, उमर अब्दुल्ला, हेमंत सोरेन और अजित सिंह उपस्थित रहे।
वैसे देखा जाये तो उपराष्ट्रपति के तौर पर विपक्ष के उम्मीदवार की जीतने की कोई संभावना नहीं के बराबर है। उपराष्ट्रपति के चुनाव के लिए सत्तारूढ़ दल के पास कुल 790 वोट में से करीब साढ़े पांच सौ वोट हैं। उपराष्ट्रपति राज्यसभा के सभापति भी होते हैं और उपराष्ट्रपति के चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसद हिस्सा लेते हैं।

Share

Related posts

Share