Breaking News

महामना की शिक्षा स्थली बीएचयू में फिर हिंसा-आगजन

bhu

विजय श्रीवास्तव
-कैंपस में छात्रों और पुलिस के बीच भिड़ंत
-उपद्रवी छात्रों ने दर्जनों वाहनों में तोडफोड कर बस में लगाई आग
वाराणसी। महामना की शिक्षा स्थली एक बार फिर हिसंा के भेट चढ गयी ।बीएचयू में एक बार फिर से आज उस समय हिंसा भड़क गई जब समाजवादी छात्रसभा के नेता आशुतोष सिंह की गिरफ्तारी पुलिस ने की। इसके विरोध में पूरे कैंपस में जमकर हंगामा व तोडफोड हुआ। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कैंपस में तोड़फोड़ और आगजनी की वारदात को अंजाम दिया। घंटो तक चले महामना की शिक्षा स्थली में हिसंा का नग्न तांडव देखने को मिला। जिसके चलते एक बार फिर बीएचयू में फिर से दहशत का माहौल व्याप्त है।
बताया जाता हैे कि आईटी बीएचयू के कार्यक्रम डीजे नाइट को लेकर हुए बवाल मामले में आशुतोष सिंह आरोपी था। उसकी गिरफ्तारी के बाद बीएचयू कैंपस का माहौल अचानक गरमा गया
। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारी छात्रों के बीच जमकर झड़प हुई। उपद्रवी छात्रों ने जहां एक बस को आग के हवाले कर दिया वहीं दर्जनों वाहनों में तोड़फोड़ की. साथ ही छात्रों ने जमकर पुलिस पर पथराव किया।
गौरतलब है कि इससे पहले सितंबर माह में परिसर में छेड़खानी की घटनाओं को लेकर जमकर हंगामा हुआ था। पुलिस और प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं के बीच झड़प हुई थी। इस दौरान पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे थे और लाठियां भांजी थी। इसके बाद मामले को लेकर खूब राजनीति हुई थी। जिसके चलते आखिरकार कुलपति को भी कटघरे में खडा किया गया। उन्हें अवकाश पर भेज दिया गया। छात्राओं पर लाठीचार्ज मामले में क्राइम ब्रांच ने पूर्व प्रॉक्टर प्रो. ओंकारनाथ सिंह समेत 20 लोगों को तलब भी किया था।
आखिरकार कुलपति गिरीश चंद्र त्रिपाठी पर गाज गिरी थी। मामले में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी सफाई देनी पड़ी थी।

Share

Related posts

Share