Breaking News

महाराष्ट्र : उद्धव सरकार फ्लोर टेस्ट में पास हुई, 169 विधायकों ने दिया समर्थन

राजनीतिक डेस्क
-विपक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा
-ःभाजपा बोली- संविधान के तहत नहीं ली गई शपथ किया वाकॅ आउट
-भाई राजठाकरे के विधायक ने नहीं दिया उद्धव सरकार को वोट
-वोटिंग के दौरान 4 विधायक तटस्थ रहे
नई दिल्ली। आखिरकार महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री की कुर्सी मिलने के बाद उद्धव ठाकरे ने फ्लोर टेस्ट पास कर लिया। बहुमत परीक्षण में कुल 169 वोट उद्धव सरकार के पक्ष में पड़े वहीं विपक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा। वोटिंग के दौरान कुल 4 विधायक तटस्थ रहे। इससे पहले सदन में बीजेपी के नेताओं ने जमकर हंगामा किया और वॉक आउट कर गए।
इस दौरान पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उद्धव ठाकरे ने संविधान के तहत शपथ नहीं ली थी जबकि वहीं, उद्धव ठाकरे ने फ्लोर टेस्ट के बाद कहा कि सदन में वैचारिक मतभेदों को गलत तरीके से रखा गया। उद्धव ठाकरे ने खुलकर कहा कि- मुझे सदन में काम करने का अनुभव नहीं है, मैं मैदान में लड़ने वाला आदमी हूं। वैचारिक मतभेद रखने का अलग तरीका होता है। सदन में वैचारिक मतभेदों को गलत तरीके से रखा गया। यह महाराष्ट्र की परंपरा नहीं है। मुझे गर्व है कि मैंने अपने आदर्शों का नाम लेकर शपथ ली।
फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से गले मिलने के लिए विपक्ष के नेता की कुर्सी पर पहुंचे। उद्धव ने फडणवीस को गले लगाया। इसके बाद उद्धव अपनी सीट पर बैठ गए। हालांकि, चर्चा शुरू होते ही बीजेपी के विधायक हंगामा करने लगे। बहुमत परीक्षण के बीच बीजेपी ने वॉक आउट कर दिया। सदन की शुरुआत होते ही फडणवीस ने कहा कि वंदे मातरम से सदन की शुरुआत क्यों नहीं हुई। नियमों के खिलाफ सदन को बुलाया गया। सत्र में नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से शपथ ली गई। उस पर भी मुझे आपत्ति है। इस पर स्पीकर ने कहा कि सदन के बाहर क्या हुआ उस पर बात नहीं करनी चाहिए।
फडणवीस ने कहा कि सभी नियमों को ताख पर रखा जा रहा है। स्पीकर के चुनाव से पहले फ्लोर टेस्ट नहीं किया जा सकता। जब तक स्थायी स्पीकर नियुक्त नहीं किया जाता तब तक विश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जा सकता। वहीं, प्रोटेम स्पीकर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि खुला मतदान हो और उसमें लिखा गया है कि प्रोटेम स्पीकर यह कार्यवाही करवाएं। इसलिए मैं आगे की कार्यवाही बढ़ा रहा हूं। फ्लोर टेस्ट बैलेट से नहीं लिया जाएगा। यह सुप्रीम कोर्ट का फैसला है। फ्लोर टेस्ट का लाइव टेलीकास्ट भी होगा। अब मैं विश्वास मत पेश करने की कार्यवाही शुरू करता हूं। इस पर भी भाजपा विधायक संतुष्ट नहीं हुए और सदन से वाक आउट कर गये।
Share

Related posts

Share