Breaking News

मिर्जापुर : विंध्यवासिनी मंदिर परिसर में मारपीट मामले में तीर्थ पुरोहित पर मुकदमा वहीं पीटने वाले तीन पुलिसकर्मी निलंबित

विजय श्रीवास्तव
-एसपी ने मामले को संज्ञान में लेते हुए की कार्रवाई

मिर्जापुर। रविवार को विंध्यवासिनी मंदिर परिसर में दर्शन को लेकर कुछ पुलिसकर्मियों ने एक तीर्थ पुरोहित की जमकर पिटाई में एसपी ने स्वत: मामले का संज्ञान लेते हुए कार्रवाई करते हुए जहां तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया वहीं तीर्थ पुरोहित के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। इस पूरे घटना पूरे मारपीट का एक वीडियो वायरल होने के बाद पंडा समाज में जबरस्त रोष व्याप्त है।
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले के मां विंध्यवासिनी मंदिर परिसर में एक तीर्थ पुरोहित द्वारा अपने दो यजमान को दर्शन कराने के लिए बारकेटिंग के लिए लगे रस्सी के अन्दर से ले जा रहा था। जिसपर पुलिसकर्मी द्वारा इसका विरोध किया और तीर्थ पुरोहित अमित पांडेय का गमझा खीच लिया इस पर नोंकझोक के बाद पुलिस कर्मियों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद पुलिस और पंडा समाज आमने-सामने हो गए। काफी संख्या में इकट्ठा हुए पंडा समाज ने विरोध जताते हुए कहा कि पुलिस अधिकारियों और परिचितों को दर्शन करा रही है और पुरोहित बाहर से आए दर्शनार्थी को दर्शन करा रहे हैं तो रोका जा रहा है। मालूम हो कि पुरोहित अमित पाण्डेय का परिवार अमिताभ बच्चन के साथ ही इंदिरा गांधी के परिवार का भी तीर्थ-पुरोहित है। विंध्याचल में राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा के आगमन पर उन्हें दर्शन भी इसी परिवार ने करवाया था।


विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए विंध्याचल कोतवाल ने मौके पर पहुंचकर तीर्थ पुरोहित से बात कर मामला शांत कराया। पंडा की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह ने तीर्थ पुरोहित की पिटाई करने वाले तीन सिपाहियों को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही कोरोना कर्फ्यू नियम का उल्लंघन कर दर्शन कराने के मामले में पंडा अमित पांडे पर सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने पर मुकदमा दर्ज किया गया है। साथ ही पुलिस के साथ दुर्व्यवहार करने का भी लगाया है।

Share

Related posts

Share