Breaking News

मुंशी प्रेमचन्द्र के गांव लमही में भी दिखा सीआरपीएफ का मानवीय चेहरा, बाटें राशन व इलाके को किया सेनीटाइज

विजय श्रीवास्तव
-लमही में सीआरपीएफ ने बाटा राशन और किया इलाके को सेनीटाइज
-विगत एक माह से वाराणसी के हर क्षेत्र में किया सराहनीय कार्य

वाराणसी। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार वृद्धि वाराणसी शहर के लोगों में चिंता का विषय बनता जा रहा है। लोग इससे निपटने की तैयारी और सजगता से कर रहे हैं। पुलिस, प्रशासन के साथ जहां डाक्टर इस संक्रमण को दूर भगाने में पूरे जी जान से लगे हुए हैं वहीं सीमा पर देश के दुश्मनों से रक्षा करने वाले सीआरपीएफ के जवानों की सहभागिता को भी किसी तरह से कम नहीं आका जा सकता हैं। विगत एक माह से सीआरपीएफ 95 पहाडिया के कमाडेंट नरेंद्र पाल सिंह के नेतृत्व में जनपद के हर इलाकों को जहां लोंगो को लंच पैकेट, राशन किट बाटर रहें हैं वहीं गांव व शहरों को सेनेटराइज करने में लगे हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को मुंशी प्रेमचन्द्र के गांव लमही में सीआरपीएफ के जवानों का मानवीय चेहरा दिखा। जहां उन्होंने लमही को सेनीटाइज किया वहीं गांव वालों को राशन किट भी बाटंे।


सीआरपीएफ के जवान इन दिनों मोहल्ला, सोसाइटियों जाकर लोगों को राशनकीट ही नहीं वरन् एक दूसरे को जागरूक करते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते तथा जारी शासनादेश का पालन करने की औरों से गुजारिश करते दिख रहे हैं। कोविड-19 का सामना सामूहिक सहयोग से ही संभव है। लोग अपने घरों में रहे, बगैर किसी आपात स्थिति के घरों से बाहर ना निकले। शासन प्रशासन लोगों की पूरी मदद करने के लिए तत्पर है। ऐसे में 95 बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल पहाड़िया मंडी वाराणसी, कमांडेंट नरेंद्र पाल सिंह के नेतृत्व में पूरी मुस्तैदी के साथ वाराणसी शहर में अपने राहत अभियान को जारी रखा है। इतना ही नहीं बल्कि हेल्प डेस्क पर आए कॉल का संज्ञान लेकर वाराणसी शहर के दूरस्थ कोने में रहने वाले निराश्रित एवं जरूरतमंद लोगों के बीच कमांडेंट महोदय द्वारा राशन बैग भिजवाया गया।


लमही में राहत समाग्री वितरण के जहां लमही के ग्राम प्रधान संतोष कुमार सिंह के साथ गांव के अन्य विशिष्ट जन उपस्थित रहे वहीं सीआरपीएफ के तरफ से विकास कुमार असिस्टेंट कमांडेंट, उपेन्द्र प्रताप सिंह, राघवेन्द्र सिंह सहित सीआरपीएफ के जवान उपस्थित रहें।

Share

Related posts

Share