Breaking News

युवाओं को प्रशिक्षण के साथ हर महीने 2500 रुपए देगी योगी सरकार

विजय श्रीवास्तव
-प्रशिक्षण के साथ हर माह 2500 रुपए मासिक प्रशिक्षण भत्ता देगी
-हर जिले में बनेगा युवा हब, 50 करोड़ रुपए की व्यवस्था

लखनऊ। योगी सरकार के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने मंगलवार को विधानसभा में प्रदेश के इतिहास का अब तक सबसे बड़ा बजट पेश करने के साथ युवाओं को लुभाने की पूरी कोशिश की है। वित्त मंत्री ने यहा तक कह दिया यह बजट युवाओं को समर्पित है। युवाओं को रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना व युवा उद्यमिता विकास अभियान का ऐलान किया गया। योगी सरकार युवाओं को उद्योगों व एमएसएमई इकाइयों में प्रशिक्षण के साथ हर माह 2500 रुपए मासिक प्रशिक्षण भत्ता देगी।
गौरतलब है कि योगी सरकार ने इस बार अपना ऐतिहासिक बजट पेश किया है, क्योकि यह बजट अब तक सबसे बडा बजट है। इस बार 5 लाख 12 हजार करोड़ का बजट पेश किया गया है जिसमें करीब 11 हजार करोड़ की नई योजनाएं शामिल है। तारिफ की बात यह है कि इसमें युवाओं के लिए हर जिले में युवा हब बनाने की बात कही गयी है। यह योजना बेरोजगारों के लिए कितनी कारगर होगी यह तो समय बतायेगा। युवा हब योजना के लिए 50 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। जिससे हर जिले में युवा हब बनेगा।
प्रदेश के युवाओं को स्वरोजगार तथा रोजगार से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना और युवा उद्यमिता विकास अभियान योजना को शुरू करने का निर्णय लिया गया है। युवाओं को उद्योगों में प्रशिक्षण के साथ-साथ मासिक प्रशिक्षण भत्ता दिया जाएगा। कुल भत्ते में 1500 रुपए प्रतिमाह की धनराशि केंद्र सरकार द्वारा, एक हजार रुपए प्रतिमाह राज्य सरकार द्वारा व शेष राशि संबंधित उद्योग द्वारा वहन की जाएगी। मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना के संचालन से प्रदेश के उद्योगों को कुशल कारीगर व युवाओं को प्रशिक्षण के साथ साथ रोजगार भी मिलेगा। इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपए की व्यवस्था।
प्रदेश के हर जिले में युवा हब बनेगा। जो युवाओं को परियोजना, परिकल्पना से लेकर एक वर्ष तक परियोजनाओं को वित्तीय मदद के साथ संचालन में सहायता प्रदान करेगा। एक हजार 200 करोड़ रुपए की धनराशि, जो युवाओं के लिए विभिन्न स्वतः रोजगार योनाओं में राज्य को उपलब्ध है। इस युवा हब के माध्यम से यह योजनाएं समेकित रूप से क्रियान्वित की जाएगी। इस योजना से एक लाख युवाओं को स्वावलंबन की ओर ले जाएगी। हर जिले में युवा हब की स्थापना के लिए 50 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित है।
लघु उद्योग, खादी एवं ग्रामोद्योग आदि क्षेत्रों में युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार व ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले युवाओं के लिए विशेष रोजगार योजना संचालित है। मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के लिए 16 हजार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराए जाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ ही ओडीओपी जैसी योजना के जरिए परंपरागत उद्योगों को प्रोत्साहन देने के लिए 250 करोड़ रुपए की व्यवस्था योगी सरकार ने की है।

Share

Related posts

Share