योगी का फरमान: 15 दिन में मंत्रियों को देना होगा संपत्ति का ब्यौरा

yogi
-कृषि को यूपी के विकास का आधार बनायेंग
-बगैर भेदभाव के काम करेगी सरकार
-अनाप-सनाफ बोलने पर मंत्रियों पर रोक
लखनऊ। यूपी का ंबागडोर संभालते ही योगी आदित्यनाथ ने अपने तेवर आज पहले ही दिन दिखाने शुरू कर दिए। शपथ ग्रहण के बाद उन्होंने आज विधिवत मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाल लिया। रविवार को अपने मंत्रियों के साथ औपचारिक मीटिंग के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने अपने मंत्रियों को 15 दिन के अन्दर अपने संपत्तियों का पूरा ब्यौरा देने का निर्देश देकर अपने तेवर को अपने मंत्रियों को यह दिखाने की कोशिश की कि अब पहले जैसा नहीं चलने वाला है। मालूम हो कि आज लखनऊ में 46 मंत्रियों ने भी शपथ ली।
मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि हम सबका विकास करेंगे। सब वादे पूरे होंगे। उन्होंने अपने मंत्रियों पर जबान पर कन्ट्रोल लगाने की हिदायत देते हुए कहा कि वे   अनाप-सनाप से बचें। इस दौरान योगी सरकार की ओर से एक बड़ा ऐलान किया गया। यूपी की बीजेपी सरकार ने अपने सभी मंत्रियों से 15 दिन के भीतर प्रॉपर्टी का पूरा ब्यौरा मांगा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का एक बड़ा तबका कृषि से जुड़ा हुआ है, हम कृषि को प्रदेश के विकास का आधार बनायेंगे। आदित्यनाथ ने सबका साथ, सबका विकास वाले फार्मूले के अनुशरण करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनाव से पूर्व जो लोक कल्याण संकल्प पत्र जनता के सामने पेश किया है, उसे पूरा करने का भरसक प्रयास किया जायेगा। योगी ने कहा कि हम प्रदेश की जनता को पूरी तरह आश्वस्त करना चाहते हैं कि सरकार उत्तर प्रदेश के विकास को आगे बढ़ाने के लिए तेजी से आगे बढ़ेगी. हम कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार समाज के गरीब, दलित और पिछड़े वर्ग के कल्याण के लिए विशेष प्रयास करेगी। प्रदेश सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण और समान अवसर प्रदान करने का काम करेगी। पूर्ववर्ती सरकारों के बदहाल शासन का खामियाजा प्रदेश के युवा पीढ़ी को भुगतना पड़ा है। युवाओं का कौशल विकास और रोजगार सृजन के क्षेत्र में सरकार काम करेगी।
योगी ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्र में भाजपा सरकार ने जिस प्रकार सबका साथ सबका विकास का दायित्व अपनाया है। हम उसी तर्ज पर काम करेंगे। योगी ने कहा कि 15 वर्षों में उत्तर प्रदेश विकास में काफी पिछड़ गया है। उन सालों में सत्ता में काबिज लोगों ने परिवारवाद किया है। हमारी सरकार आम जनता के खुशहाली के लिए कानून व्यवस्था को बेहतर बनायेगी। योगी ने कहा कि निवेश को बढ़ावा देते हुए राज्य का संतुलित औद्योगिक विकास किया जायेगा। हमारे नौजवानों को राज्य में ही रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। सरकारी नौकरियों में पूरी पारदर्शिता से बहाली होगी। प्रदेश की जनता से किये गये वायदे पूरे किये जायेंगे। मजदूरों और किसानों की आय को दुगुणा करने के लिए ठोस कदम उठाये जायेंगे। परिणाम जल्द ही दिखेगा। अगले सप्ताह के कैबिनेट की नियमित बैठकें आयोजित होंगी।
आदित्यनाथ ने कहा कि हम कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिए अविलंब कार्रवाई करेंगे। समाज के सभी वर्गों के लिए यह सरकार समान रूप से कार्य करेगी। शासन और प्रशासन को सशक्त बनाया जायेगा। सड़क भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था के साथ कानून व्यवस्था को भी मजबूत बनाया जायेगा।  यूपी सरकार की ओर से पक्ष रखने के लिए योगी ने श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थ नाथ सिंह को प्रवक्ता नियुक्त किया है। दोनों मंत्री भी हैं। योगी के जाने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में श्रीकांत शर्मा ने कहा- हमने अपने सभी मंत्रियों से प्रॉपर्टी सार्वजनिक करने के लिए कहा है। इसके लिए 15 दिन का वक्त दिया गया है।

Share

Leave a Reply

Share