Breaking News

योगी की मैराथन बैठक : निजी स्कूलों को फीस घटाने के निर्देश

yogi
-युवाओं को रोजगार और बेहतर शिक्षा का  लक्ष्य
-100 दिन का मैपरोड बनाने का निर्देश
-देर रात तक 8 घंटे तक चली बैठक
-आज होनी है कैबिनेट की बैठक
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की  सरकार पूरे एक्शन में है। प्रदेश में वह बदलाव लाने के लिए पूरी तरह से कृत संकल्प दिख रही है। आये दिन योगी के एक्शन से जहां बदलाव दिख रहा है वहीं लापरवाही व उदासीनता बरतने वाले अधिकारियों व बाबूओं को इसकी सजा भी मिल रही है। राजधानी लखनऊ में सोमवार को देर रात तक सीएम आदित्यनाथ योगी और उनके कैबिनेट मंत्रियों के साथ अधिकारियों की बैठक चलती रही, जहां सीएम योगी ने सभी विभागों के सचिवों से हर चीज की खबर लेने के साथ आगे के रोड मैप पर चर्चा की।वहीं योगी सरकार ने 5 साल में 10 लाख नए रोजगार पैदा करने का लक्ष्य रखा है।
सोमवार देर रात 11 बजे तक सीएम योगी की शिक्षा से जुड़े छह विभागों से बैठक चलती रही। यहां योगी उनसे सारी जानकारी मांग रहे थे और ऐसे में अधिकारी यहां फाइलों का पुलिंदा लेकर दौड़ते-भागते दिखे। शिक्षा विभाग के साथ बैठक में राज्य की मौजूदा शिक्षा व्यवस्था का जायजा लिया गया। इसके साथ ही निजी स्कूलों की फीस घटाने को लेकर भी निर्देश दिए गए। बेसिक शिक्षा विभाग के सचिव अजय कुमार के मुताबिक, इन सारे निर्देशों को अगले 100 दिनों में अमल में लाना है। इस दौरान योगी ने अधिकारियों को अपने आदत में सुधार लाने व सदैव चैकस रहने की हिदायत दी है। जिससे पूरे अमला में अफरातफरी मची हुई है।
सीएम योगी ने सभी विभागों से 100 दिनों का रोडमैप बनाने और उस पर तुरंत अमल शुरू करने को कहा है। इन 100 दिनों के बाद सभी अधिकारियों से काम का रिपोर्ट भी तलब किया जाएगा और कोताही पाए जाने पर अधिकारियों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दे दी गई है। वहीं इन 100 दिनों के सरकार का अगला लक्ष्य 6 महीने और फिर 1 साल के लिए रोडमैप बनाने और उसपर अमल का होगा। यह निश्चय है कि अगर सब कुछ जैसा योगी चाहते है वैसा ही अधिकारी व बाबू भी करते रहे तो निश्चय ही प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनने से कोई नहीं  रोक सकता है।

Share

Related posts

Share