Breaking News

योगी ने रात भर जाना मोदी के वाराणसी में हो रहे विकास कार्यों का जमीनी हकीकत, सडकों पर दौडता रहा रात भर सीएम का काफिला

cmmmmmmm

विजय श्रीवास्तव
-आज समीक्षा बैठक में गिर सकती है कुछ अधिकारियों पर गाज
-सारनाथ से बीएचयू तक के बीच किया कार्यो का सत्यापन
वाराणसी। पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हो रहे विकास कार्यों का करीब से हकीकत जानने के लिए शनिवार को पहुंचे सीएम योगी के चलते अधिकारियों में अफरातफरी मची हुई है। कर्नाटक चुनाव में शिकस्त खायी भाजपा अब 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर पूरी तरह से गंभीर हो चली है। वह कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहती है जिससे 2019 चुनाव के लिए उसे हानि उठाना पडे, भले इसके लिए उसे व उसके आलाअधिकारियों को रात भर जागना ही क्यों न पडें। कुछ ऐसा ही वाकया वाराणसी में शनिवार की देर रात तक काशी की सडकों पर देखने को मिला। जब सीएम योगी का काफिला मय अधिकारियों के साथ एक कोने से दूसरे कोने तक सडकों पर भागता रहा।

meridiyan 1

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह कैण्ट स्टेशन के समीप हुए पुल हादसे के दौरान भी योगी पहंुच कर घायलों को जहां स्ंात्वाना दिया वहीं मृत परिवार को 5-5 लाख रूपये देने की घोषणा की थी। इसके साथ ही एमडी के लगायत 4 बडे अधिकारियों पर भी बडी कार्रवाई करने से भी नहीं चूकें। शनिवार को वाराणसी पहुंचे योगी पहले सर्किट हाउस में श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरीडोर को लेकर विभिन्न पक्षों से बंद कमरे में अलग-अलग बात की । इसके बाद मुख्यमंत्री ने जिले में हो रहे विकास कार्यों का ग्राउंड लेवल के लिए अपने काफिले के साथ जमीनी हकीकत जानने के लिए निकल पडें। योगी का काफिला रात साढ़े 10 बजे सर्किट हाउस से निकलकर पांडेयपुर स्थित 130 करोड़ की लागत निर्माणाधीन राज्य कर्मचारी बीमा निगम (ईएसआईसी) के 150 बेड के अस्पताल पहुंचा। मुख्यमंत्री ने यहां चल रहे कार्यो का विधिवत निरिक्षण के साथ इस प्रोजेक्ट को दिसम्बर, 2018 तक हर हालत में इसे पूरा करने का निर्देश दिया। कार्य की गुणवत्ता पर भी उन्होंने जोर देते हुए निर्धारित अवधि में कार्य पूरा कराये जाने पर जोर दिया। पूर्व में यह अस्पताल 30 बेड़ का था, अब इसे बढ़ाकर 150 बेड़ का किया जा रहा है। इसमें 50 बेड़ मल्टीस्पेशियलिटी के भी हैं। वहां से फिर सीएम योगी का काफिला सारनाथ के वाटर ट्रिटमेंट प्लान से लेकर चैकाघाट पम्पिंग स्टेशन, लहरतारा स्थित होमी भाभा कैंसर संस्थान से होते हुए बीएचयू के कैंसर अस्पताल तक पहुंचा। मुख्यमंत्री ने जिले में हो रहे निर्माण कार्य की योजनाओं का निरीक्षण किया। अनुमान लगाया जा रहा है कि आज की समीक्षा बैठक में इन स्थलों के बाबत योगी अधिकारियों को और दिशा निर्देश देंगे। इसके साथ ही इस बात की चर्चा है कि पुल हादसे के मामले में भी योगी और कुछ कार्रवाई कर सकते हैं। मुख्यमंत्री के राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी व राज्यमंत्री अनिल राजभर के साथ ही वहीं जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र और एसएसपी आर के भारद्वाज भी मौजूद रहें।

Share

Related posts

Share