Breaking News

योगी सरकार के वादाखिलाफी के विरोध में वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ ने भारत माता मंदिर परिसर में काली पट्टी बांधकर किया विरोध

विजय श्रीवास्तव
-अभी तक नहीं दिया उत्तर प्रदेश सरकार ने बुनकरों के साथ बिजली फ्लैट-रेट मामले में कोई रियायत

वाराणसी। वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ ने आज योगी सरकार पर बुनकरों के साथ बिजली फ्लैट-रेट मामले में अभी तक कोई रियायत न देने के विरोध में मोर्चा खोल दिया। संघ ने आज शांतिपूर्ण तरीके से भारत माता मंदिर परिसर में काली पट्टी बांधकर विरोध किया। इस दौरान दर्जनों की संख्या में बुनकर उपस्थित रहें।
इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि एक बार फिर दूसरों के तन ठकने वाले बुनकरों को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा छला गया है। सरकार से अपनी मांग को मनवाने के लिए भारतीय संविधान में धरना, प्रदर्शन और अनशन जैसी प्रक्रिया अपनाने का अधिकार प्राप्त है। समय-समय पर महात्मा गांधी जी भी सत्याग्रह किया करते थे। इसी सत्याग्रह के कारण अंग्रेजों को भारत छोड़ना पड़ा। इसी क्रम मे उत्तर प्रदेश का बुनकर पावरलूम पर बिजली के फ्लैट-रेट को वापस कराने हेतु 1 सितम्बर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चला गया था लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल द्वारा बुनकरों संग 3 सितम्बर को एक संयुक्त बैठक का आयोजन किया गया। यह बैठक तीन राउंड चली जिसमें यह निर्णय लिया गया कि 31 जुलाई 2020 तक बुनकरों का बिल पुराने फ्लैट-रेट से ही जमा किया जायेगा तथा 15 दिन के अंदर नयी योजना जो कि पहले से भी अच्छी योजना बुनकरों के लिए होगी प्रस्तावित कि जायेगी। बुनकर अपनी आंख लगाये बेसब्री से इंतेजार करता रह गया लेकिन 15 दिन से ऊपर बीत जाने के बाद भी सरकार ने कोई आदेश बिजली विभाग को नहीं भेजा ताकि बुनकरों का 31 जुलाई 2020 तक का बकाया जमा कराया जा सके। बुनकर की हाल पिछले 15 दिन पहले जो थी आज भी वही है। सिर्फ आश्वासन देकर सरकार द्वारा बुनकरों के आंदोलन को समाप्त करा दिया गया लेकिन बुनकरों की दिशा और दशा में कोई सुधार नही हो सका।

बुनकर पहले भी बिजली विभाग का कर्जदार था। आज भी कर्जदार है। बुनकर पहले भी भुखमरी का शिकार था। आज भी भुखमरी का शिकार है। हम सरकार के इस जनविरोधी निति का विरोध करते है और सरकार से मांग करते है कि बुनकर हित मे 3 सितम्बर की मिटिंग के क्रम में जल्द से जल्द कोई ठोस रणनीति बनाते हुए आदेश जारी करें।
आज 2 अक्टूबर को वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ के पदाधिकारी एवं साथियों ने शांतिपूर्ण तरीके से काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया और सरकार से मांग की उनको दी जाने वाली पुरानी फ्लैट बिजली व्यवस्था बहाल की जाए। मुख्य रूप से वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ के अध्यक्ष राकेश कांत राय , शैलेश सिंह, अकरम अंसारी, ज्वाला सिंह संजय प्रधान ,हताब आलम ,अनिल मुद्रा ,अजीत गुप्ता, मनीष काबरा, निजाम खान आदि थे।

Share

Related posts

Share