योगी सरकार देगी शिक्षा मित्रों को 10 हजार रुपए मानदेय

tttt
-1 अगस्त 2017 से 10 हजार रुपए मानदेय देने का निर्णय
-अनुभव के आधार पर 2.5 अंक वेटेज के तौर पर हर वर्ष मिलेगा
 लखनऊ। आखिरकार योगी सरकार ने शिक्षों मित्रों पर मरहम लगाने का काम शुरू कर दिया है। यूपी सरकार ने 1 अगस्त 2017 से 10 हजार रुपए मानदेय देने का फैसला किया है। मालूम हो कि कोर्ट के समायोजन रद्द करने के बाद से शिक्षा मित्र योगी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। योगी सरकार ने शिक्षा मित्रों को मौका देते हुए अक्टूबर में टीईटी की परीक्षा आयोजन किया जाएगा। इसके लिए यूपी के बेसिक शिक्षा विभाग ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। शिक्षा मित्रों को उनके अनुभव के हिसाब हर साल 2.5 अंक वेटेज के तौर पर दिए जाएंगे, जिसे अधिकतम 25 अंक तक रखा गया है। इस संबंध में यूपी सरकार ने नोटिफिकेशन जारी किया है।
गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने विगत दिनों यूपी में असिस्टेंट टीचर के पद पर शिक्षामित्रों के समायोजन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने 25 जुलाई को बड़ा फैसला सुनाया था। जिसके तहत कोर्ट के फैसले में कहा गया कि 1 लाख 72 हजार शिक्षामित्रों में से समायोजित हुए 1 लाख 38 हजार शिक्षामित्रों की असिस्टेंट टीचर के पद पर हुई नियुक्ति अवैध है। इसके साथ कोर्ट ने यह भी कहा था कि सभी 1 लाख 72 हजार शिक्षामित्रों को दो साल के अंदर टीईटी एग्जाम पास करना होगा। इसके लिए उन्हें दो साल में दो मौके मिलेंगे। साथ ही इन दो सालों में टीईटी एग्जाम पास करने के लिए उम्र के नियमों में भी छूट दी जाएगी।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से शिक्षा मित्र प्रदर्शन कर रहे हैं। कई दिनों तक उन्होंने विधानसभा घेराव और बीजेपी ऑफिस का घेराव भी किया। एक अगस्त 2017 को शिक्षा मित्रों के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात भी की थी। सीएम योगी ने शिक्षा मित्रों को हरसंभव मदद का भरोसा भी दिया। बावजूद इसके शिक्षामित्रों का प्रदर्शन जारी है। वहीं,सोमवार से लखनऊ के लक्ष्मण मैदान में 1.25 लाख शिक्षा मित्र राजधानी में प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के प्रेसिडेंट जितेन्द्र शाही के मुताबिक, योगी सरकार 10 हजार रुपए का मानदेय देकर शिक्षामित्रों को झुनझुना पकड़ाना चाहती है, लेकिन शिक्षामित्र सरकार के बहकावे में हरगिज नहीं आने वाले हैं।

Share

Leave a Reply

Share