Breaking News

यौन शोषण केस में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद गिरफ्तार, कबूले सारे आरोप

-चिन्मयानंद ने कबूले सारे आरोप
-चिन्मयानंद को 14 दिनों के लिए भेजा गया जेलढइतझ
-लॉ की छात्रा ने लगाया था यौन शोषण का आरोप

शाहजहांपुर । आखिरकार चर्चित यौन शोषण केस में फंसे यौन शोषण केस में बीजेपी नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को आज यूपी की स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) ने शाहजहांपुर से ही गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद शाहजहांपुर की जिला अदालत में चिन्मयानंद का मेडिकल टेस्ट करवाया गया। जहां से उन्हें स्थानीय अदालत में ले जाकर पेश किया गया। अदालत ने स्वामी चिन्मयानंद को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।
इस सन्दर्भ में यूपी की विशेष जांच दल एसआईटी प्रमुख नवीन अरोड़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि चिन्मयानंद ने सारे आरोप कबूल कर लिए हैं। वायरल हुए वीडियो में खुद चिन्मयानंद हैं, यह उन्होंने स्वीकार किया। जिसपर बिना देरी के शुक्रवार को सुबह गिरफ्तार किया गया। वीडियो और ऑडियो की बारीकी से जांच की गई। चीफ के मुताबिक चिन्मयानंद ने उनसे कहा कि मैं गलती पर शर्मिंदा हूं।
गौरतलब है कि लॉ की एक छात्रा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। लॉ छात्रा ने 12 पन्नों की शिकायत की थी और एसआईटी को दिए बयान में कई चैंका देने वाली बातें सामने आई। पीड़िता का कहना है कि चिन्मयानंद ने ब्लैकमेल कर रेप किया है। पीड़िता का हॉस्टल के बाथरूम में नहाने का वीडियो बनाया गया और उस वीडियो को वॉयरल करने की धमकी देकर एक साल तक रेप करता रहा। साथ ही पीड़िता ने बताया कि चिन्मयानंद ने शारीरिक शोषण का वीडियो भी बनाया है। इससे जुड़े कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इन आरोपों के सिलसिले में पिछले शुक्रवार को एसआईटी की टीम ने स्वामी चिन्मयानंद से पुलिस लाइन में स्थित एसआईटी के दफ्तर में करीब 7 घंटे तक पूछताछ की थी। लॉ छात्रा की ओर से लगाए गए आरोपों पर स्वामी चिन्मयानंद का कहना था कि वह जल्द ही एक विश्वविद्यालय का निर्माण करने जा रहे थे। कुछ लोग चाहते हैं कि उसका निर्माण कार्य ना हो पाए। इसीलिए उनके खिलाफ पूरी साजिश की गई है और इसी के तहत आरोप लगाए गए हैं। स्वामी ने सभी अपने उपर लगे आरोपों को साजिश बताया था। जबकि वहीं इस सिलसिले में में पहले पीडिता से भी एसआईटी ने 11 घंटे तक पूछताछ की थी। के बाद की वकील पूजा सिंह ने बताया कि उनके मुवक्किल को उनके घर से ही गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि वे न्यायिक प्रक्रिया के मुताबिक अगला कदम उठाएंगी। इस बीच राज्य यूपी के डीजीपी ने कहा कि चिन्मयानंद से फिरौती मांगने की कोशिश के आरोप में 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
बहरहाल स्वामी चिन्मयानंद ने गिरफ्तारी से बचने के लिए हर पैतरे अपनाए लेकिन वे सफल नहीं हुए। पीडिता ने आरोप लगाया था कि उसके पिता को भी धमकी दी गयी है। जब पीडिता ने यह कहा कि अगर स्वामी की गिरफ्तारी नहीं की गयी तो वह आत्मदाह कर लेगी। इसके बाद महकमें में खलबली मच गयी। एसआईटी सक्रिय हुई और आज उनकी गिरफ्तारी हो गयी।

Share

Related posts

Share