Breaking News

राजनीति में भी कायस्थ समाज को अपनी पैठ बनाने की आवश्यकता : रिबू श्रीवास्तव

विजय श्रीवास्तव
-व्यापार की तरफ भी कायस्थ युवा को ध्यान देने की जरूरत: ह्दय नारायण
-बडे मिशन के लिए आपसी मतभेद भुलाने की आवश्यकता: उमेश श्रीवास्तव

वाराणसी। कायस्थों की भूमिका देश की आजादी से पूर्व और बाद भी सदैव से रही है। डाॅ राजेन्द्र प्रसाद, लाल बहादुर शास्त्री, दयानन्द, जयप्रकाश नारायण आदि ने देश के लिए अपनी अनुकरणीय सेवाएं दी है लेकिन इन सब के वावजूद आज राजनीति में हमारी अच्छी पैठ न होने के कारण हम जमीदांर के स्थान पर किरायेदार बन कर रह गये है। आज हमें पुनः अपने संस्कार, संस्कृति के साथ अपनी पहचान मजबूत करनी होगी।
उक्त बातें आज रमरेपुर, पहाडिया स्थित श्री चित्रगुप्त जन कल्याण ट्रस्ट के स्थापना दिवस के अवसर आयोजित कार्यकम में समाजवादी नेत्री रिबू श्रीवास्तव ने कही। उन्होंने कहा कि आज आरक्षण के समय में भी कायस्थ समाज अपनी अलग पहचान बनाने में सफल रहा है। आज कायस्थ समाज एक ताकतवर के रूप में उभर रहा है। हर कोई अब उसकी तरफ देख रहा है। आज जरूरत है कि हम संगठित होकर अपनी ताकत को और बढाये। अखिल भारतीय कायस्थ समाज के अध्यक्ष ह्दय नारायण श्रीवास्तव ने कहा कि आज हमें जनहित कार्यो के साथ-साथ अपने संसाधन और ताकत को बढाना होगा। इसके लिए युवाओं को आगे आने के साथ नौकरी से घ्यान हटा कर उसे व्यापार व राजनीति विकल्प पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है। इस दौरान ट्रस्ट के महामंत्री अवधेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि स्वर्गीय कैलाश नाथ श्रीवास्तव व बी. एल. श्रीवास्तव द्धारा वर्ष 1982 में स्थापित ट्रस्ट के लिए भूमि के साथ अन्य संसााधन में दोंनों विभूतियों का योगदान सर्वोपरि रहा है। आज ट्रस्ट गरीब लडकियों की शादी के साथ-साथ अन्य सामाजिक कार्यो में भाग ले रही है। देहरादून से आयी ज्योति श्रीवास्तव ने कहा कि उत्तराखण्ड में कायस्थों के अराध्य देव चित्रगुप्त का कोई मन्दिर नहीं था लेकिन आज कायस्थों के प्रयास से आज तीन मन्दिर स्थापित हो चुके है। वहां आज घरों में लोग चित्रगुप्त कथा करते है और प्रसाद स्वरूप कलम देते हैं। जिससे आज परीक्षा के समय विद्यार्थी लाइन लगा कर प्रसाद स्वरूप कलम लेने के लिए आते हैं।
अध्यक्षता करते हुए ट्रस्ट के अध्यक्ष उमेश श्रीवास्तव ने कहा कि बडे मिशन के लिए हमें आपसी मतभेद को भूल कर संगठित होकर आगे बढना होगा। ट्रस्ट अपनी आय बढाने की दिशा में गंभीर है इसके लिए ट्रस्ट कई योजनाओं को कार्यान्यावित करने पर विचार कर रहा है। जिससे अपने समाज की गरीब वर्ग का भी बेहतर सेवा हो सके।
उक्त अवसर ज्ञानचन्द्र श्रीवास्तव, सत्य प्रकाश श्रीवास्तव, राजेश श्रीवास्तव, डाॅ मनोज श्रीवास्तव, डाॅ शिप्रा श्रीवास्तव, सहित दर्जनों लोंगो को सम्मानित किया गया। संचालन दिव्यप्रकाश श्रीवास्तव ने तथा धन्यवाद ज्ञापन डाॅ ज्योत्सना श्रीवास्तव ने किया। इससे पूर्व सुबह चित्रगुप्त मन्दिर में कायस्थ समाज के लोंगो ने विधिवत पूजा अर्चन की।

Share

Related posts

Share