रेलवे में अब अधिकारी व कर्मचारियों को सप्ताह में करना होगा 6 दिन काम

india
-वीआईपी कल्चर खत्म करने की तैयारी
-रेलवे के नये अध्यक्ष ने जारी की एडवाइजरी
-तीन माह तक समारोहों पर रोक
 नई दिल्ली। सरकार लाल-नीली बत्ती समाप्त कर वीआईपी कल्चर समाप्त करने का दावा करने के बाद अब रेलवे में भी वीआईपी समाप्त करने की तैयारी शुरू कर दी है। अब रेलवे अधिकारियों व कर्मचारियों को अन्य केंद्रीय कर्मचारियों की तरह सप्ताह में छह दिन तक ऑफिस जाना पड़ेगा। अभी तक उन्हें सिर्फ पांच दिन (सोमवार से शुक्रवार) तक ही ऑफिस जाना पड़ता था। इसके लिए रेलवे बोर्ड के नए अध्यक्ष अश्वनी लोहानी ने एडवाइजरी जारी कर दी है। इस संबंध में रेलवे बोर्ड जल्दी ही लिखित आदेश जारी करेगा।
बोर्ड के नये अध्यक्ष लोहानी ने वीआईपी कल्चर को पूरी तरह से समाप्त करने की वकालत की है। लोहानी द्वारा रेलवे के सभी जीएम को इस सन्दर्भ में एडवाइजरी भेज दी गयी है। लोहानी का मानना है कि अधिकारियों व कर्मचारियों के सप्ताह में छह दिन काम करने से रेलवे की कई परियोजनाओं के अलावा कार्यों को समय पर पूरा करने में मदद मिलेगी। गौरतलब है कि सीआरबी ने रेलवे में वीआईपी कल्चर खत्म करने की भी बात कही है। एडवाइजरी में सफाई पर विशेष ध्यान देने के साथ ही ऑफिस में दुर्गा, दीपावली पूजा या अन्य किसी भी अवसर पर कोई भी उपहार या चंदा आदि नहीं लेने तथा उद्घाटन की परंपरा से दूर रहने की बात कही है।
एक प्रतिष्ठित न्यूज पोर्टल भास्कर डाट काम से बातचीत करते हुए सीआरबी लोहानी ने सभी जोनल रेलवेज के महाप्रबंधकों (जीएम) को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि रेलवे अफसरों के घरों में काम के लिए लगे सभी गैंगमैन को वापस करने के साथ ही रेलवे महिला विकास समिति आगामी तीन महीने तक कोई समारोह नहीं आयोजित करेगी। उन्होंने कहा है कि रेलवे कर्मचारी कुछ रिटायर्ड रेल अधिकारियों के निवास पर अभी भी काम कर रहे हैं। इसके लिए निजी तौर जीएम जिम्मेदार होंगे। निर्देश में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि हेडक्वार्टर और बोर्ड के रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी के भ्रमण के दौरान भी किसी तरह की पार्टी नहीं की जानी चाहिए। दुर्घटना के आधार को देखते हुए अधिकारी रेस्ट हाउस और अस्पताल में सुधार किए जाने पर भी बल दिया गया है। रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने सभी डीआरएम से एक सप्ताह में निरीक्षण के लिए तैयार रहने कहा है। उन्होंने इस बारे में सभी मंडल रेल प्रबंधकों से 10 सितंबर तक अभियान चलाकर कार्य को पूरा करने का निर्देश दिया है।

Share

Leave a Reply

Share