Breaking News

रेल व हवाई यात्रा नये वर्ष में हो सकती है मंहगी, घाटे की भरपाई के लिए नये चार्ज की तैयारी

-विजय श्रीवास्तव
-बडे रेल स्टेशनों से यात्रा करने यात्रियों से यूजर डेवलपमेन्ट फीस (यूडीएफ) वसूलने की तैयारी
-दिल्ली, मुम्बई व अन्य एयरपोर्ट से चलने वाले फ्लाइट्स पर लग सकता है अब नया चार्ज
हवाई पैसेंजर्स पर भी होगा नया चार्ज, सफर होगा महंगा

नई दिल्ली। नये वर्ष में केन्द्र सरकार रेल और हवाई यात्रा करने वालें यात्रियों के जेब पर बोझ बढाने की तैयारी कर रही है। देश में चुनिंदा रेलवे स्टेशनों पर यात्रा करना अब महंगा हो सकता है। दरअसल केंद्र सरकार जल्द ही बड़े स्टेशनों से यात्रा करने पर यूजर डेवलपमेन्ट फीस यानी यूडीएफ को मंजूरी देने पर विचार कर सकती है। वहीं दिल्ली एयरपोर्ट से आने-जाने वालें फ्लाइट्स पर सरकार अब नया चार्ज लगाने की तैयारी कर रही है।
जानकारी के मुताबिक जल्द ही देश में चुनिंदा रेलवे स्टेशनों पर यात्रा करना महंगा हो सकता है। यह इसलिए कि केंद्र सरकार जल्द ही बड़े स्टेशनों से यात्रा करने पर यूजर डेवलपमेन्ट फीस यानी यूडीएफ को मंजूरी देने पर विचार कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक यूडीएफ पर जल्द ही कैबिनेट की बैठक में मंजूरी ली जाएगी। यदि सरकार इस प्रस्ताव को मंजूरी दे देती है तो पहले चरण में नई दिल्ली, मुम्बई, नागपुर, इंदौर, चंडीगढ़ जैसे करीब 100 स्टेशनों पर इसे लागू किया जाएगा। इन रेलवे स्टेशनों के लिए यात्रा करना काफी महंगा हो सकता है। यदि सरकार इस प्रस्ताव को मंजूरी दे देती है तो पहले चरण में नई दिल्ली, मुम्बई, नागपुर, इंदौर, चंडीगढ़ जैसे करीब 100 स्टेशनों पर इसे लागू किया जाएगा। इन रेलवे स्टेशनों के लिए यात्रा करना काफी महंगा हो सकता है।
सूत्रों के मुताबिक यदि सरकार इन प्रस्तावों को अभी मंजूरी देती है तो साल 2022-23 में ये शुल्क लागू हो सकते हैं। सरकार कैबिनेट के जरिए इसी महीने बड़े स्टेशन से रेल यात्रा करने पर यूजर डेवलपमेन्ट फीस यानी यूडीएफ को मंजूरी दे सकती है। हवाई यात्रा टिकट की तर्ज पर अब रेल टिकट में यूजर डेवलपमेंट फीस जोड़ दिया जाएगा। हर यात्री से यूडीएफ के नाम पर 10-40 रुपए तक वसूले जाने की संभावना है। यह शुल्क श्रेणी के हिसाब से वसूला जाएगा। वैसे पहले केंद्र सरकार पहले इन रेलवे स्टेशनों को आधुनिक और सुविधाजनक बनाने के बाद स्टेशन रिडेवलप्मेंट प्रोजेक्ट यात्रियों से ये शुल्क वसूला जाएगा। सूत्रों के मुताबिक अतिरिक्त शुल्क तुरंत प्रभाव से लागू नहीं होगा। ये तभी लागू किया जाएगा, जब इन सभी रेलवे स्टेशनों का विकास हो जाएगा और यात्रियों को आधुनिक सुविधाएं मिलने लगेंगी।
वहीं दूसरी ओर कोरोना के चलते दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड को काफी घाटा होने की बात की जा रही है। दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के प्रबंधन ने नागरिक विमानन मंत्रालय को लिखी चिट्ठी में बताया है कि उसे अप्रैल 2020 से मार्च 2024 तक 3,538 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है। इसकी भरपाई के लिए हवाई यात्रियों पर नया चार्ज लगाया जाएगा। इसी क्रम में एविएशन सेक्टर में ऐसे कदम उठाए जाने की योजना है, जो हवाई यात्रियों के लिए महंगे साबित हो सकते हैं। दरअसल, दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ने हवाई यात्रियों पर पर नया चार्ज लगाने का फैसला किया है। इससे देश की राजधानी से हवाई सफर करना महंगा हो जाएगा। डायल का कहना है कि कोरोना संकट के कारण ऑपरेशंस बंद रहने से कमाई में आई गिरावट की भरपाई करने की योजना बनाई जा रही है। इसके लिए डायल ने रेग्युलेटरी मंजूरी मांगी है वैसे अस्थायी तौर पर डेवलपमेंट फीस के रूप में यह चार्ज वसूला जाएगा। मुंबई एयरपोर्ट ने भी हर घरेलू यात्री पर 200 रुपये और अंतरराष्ट्रीय यात्री पर 500 रुपये चार्ज लगाने की मांग की है। साथ ही कहा है कि इसे अस्थायी रूप से डेवलपमेंट फीस के तौर पर वसूला जाएगा। उसकी याचिका पर एईआरए विचार कर रहा है। इसी तरह से हैदराबाद व कोच्चि एयरपोर्ट ने भी घाटे की भरपाई के लिए नया चार्ज लगाने की बात की है।

Share

Related posts

Share