Breaking News

“रोबो हेलमेट” अब घात लगा कर पीछे बैठे दुश्मनों से भी करेगा एलर्ट और पलक झपकते ही कर देगा फायरिंग

डाॅ आलोक कुमार
-पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की अंजली श्रीवास्तव ने बनाया रोबो हेलमेट
-पीछे घात लगा कर बैठे दुश्मनों पर बिना घूमें करेगा फायरिंग
-इससे पूर्व भी अंजली ने किया हैं कई अविष्कार

वाराणसी। अब देश की रक्षा करने वालें जाबाॅज जवानों पर धोखे व पीेछे से हमला करने पर उन्हें ‘‘रोबो हेलमेट‘‘ माकूल जवाब देगा। अत्याधुनिक तकनीक से बनी यह रोबो हेलमेट पीछे दुश्मन पर फायर कर उन्हें नेस्तनाबुत कर देगी। ह्यूमन सेसंर से युक्त रोबो हेलमेट जहां हमारें जवान को खतरों के प्रति एलर्ट करेगा वहीं बिना घूमे ही रिमोट से हेलमेट में पीछे से दुश्मन पर फायर कर उन्हें मार गिरायेगा। यह रोबो हेलमेट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के आशापुर(सारनाथ) की अंजली श्रीवास्तव ने बनाया है। इससे पहले भी अंजली श्रीवास्तव ने कई इनोवेंशन किया है। जिसपर उसे कई संगठनों द्धारा सम्मानित किया गया है।


इलेक्ट्रानिक व कम्यूनिकेशन से बीटेक कर चुकी अंजली श्रीवास्तव दिल्ली में एक इन्टरनेशन कम्पनी ई-एक्सल में बतौर सीनियर एनेलिस्ट पद पर काम करती है। कोरोना महामारी के चलते वह इन दिनों वर्क फ्राम होम के तहत वाराणसी में अपने घर आयी हुई है। इस बीच उसने दो-तीन माह में जहां महिलाओं के साथ हो रही घरेलू हिंसा को रोकने के लिए एक सेफ्टी डिवाइस, बहनों की रक्षा के लिए एलर्ट करने वाली राखी के साथ रोबो हेलमेट बनाया है। इस हेलमेट के सन्दर्भ में अंजली श्रीवास्तव ने बताया कि हमारें देश के बार्डर पर रक्षा करने वालें जावानों के आगे किसी भी देश के सैनिक टिक नहीं पातेें है लेकिन कई बार वह घात लगा कर या पीछे से फायर कर हमारें जवानों को क्षति पहुंचाते हैं। कई बार उनकी शहादत की खबरें भी आते हैं। हमने विशेष रूप से इसको फोकस करते हुए यह रोबो हेलमेट बनाया है जो पीछे या घात लगा कर हमला करने वालें दुश्मनों को मुहतोड जवाब देगा। हेलमेट पर लगा ह्यूमन सेंसर से पीछे घात लगा कर बैठै दुश्मनों के बारें में जहां वह एलर्ट करेगा वहीं हेलमेट से ही निकली गोली उन्हें मौत की नींद भी सुला देगी। अंजली ने बताया अगर किसी परिस्थिति में जवान घायल हो जाता हैं तो यह हेलमेट में लगे पहिए व रोबोट से चल दुश्मनों पर फायर कर उनके मंसूबों पर पानी फेर सकता है। अंजली ने बताया कि इस हेलमेट की खासियत वायरलेस ट्रीगर है जो रेडियों फ्रेक्वेंसी के माध्यम से बैरल से जुड जाता है, जिसके माध्यम से पीछे बैठे दुश्मनों के प्रति एलर्ट करते हुए फायर भी कर सकता है। इसका वजन भी काफी हल्का है जिसे पहन कर आराम से चला जा सकता है। इसकी सबसे बडी विशेषता यह है कि यह चारों तरफ (360 डिग्री) घूम कर फायरिंग करने में सक्षम है।


24टाइम्सटूडे से बातचीत में अंजली श्रीवास्तव ने बताया कि वह प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत व वोकल से लोकल दोनों की हिमायती है लेकिन सरकार को इसपर ऐसे लोंगो को सहयोग करने की जरूरत है जो इस दिशा में काम करना चाहते हैं। अंजली ने बताया कि पाॅच वर्ष पहले भी मैंने वीमेन सेफ्टी डिवाइस सहित दो अन्य इनोवेंशन किया लेकिन कहीं से उचित सहयोग न मिलने से थकहार कर आज एक इंटरनेशनल कंपनी में काम करने के लिए विवश हूं लेकिन आए दिन भारत-पाक बार्डर पर देश की रक्षा करने वालें जवानों की शहादत ने उसे झकझोर कर रख दिया है। हमने देखा कि अधिकतर हमारें जवान दुश्मनों के पीेछे या धोखे से वार करने से शहादत होते हैं। जिसकों देखते हुए मैंने इस तरह के हेलमेट को बनाने का विचार आया और आज उसे मूूर्त रूप दे पायी हूं। अगर सरकार इसपर हमें सहयोग करती है तो इसे और अत्याधुनिक बनाया जा सकता है। इसके लिए हमनें देश के रक्षामंत्री माननीय श्री राजनाथ सिंह को मेल के जरिए सहयोग की अपील भी की है। इसके साथ पीएम मोदी जी के साथ अन्य कई लोंगो को हमने ट्वीट कर उन्हें अपने प्रोजेक्ट के बारें में जानकारी दे कर सहयोग की अपील की है। जिससे हमारें जबाॅज जवान और बहादुरी से हमारे देश की रक्षा कर सकें।

Share

Related posts

Share