लखनऊ: पुरूष-महिला शिक्षामित्रों ने बाल मुंडवाकर सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

lllllll

राकेश श्रीवास्तव
-38 दिन से शिक्षामित्र कर रहें हैं लखनऊ में धरना
-चार सुत्रीय मांग को लेकर बैंठे है धरना पर
लखनऊ । प्र्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज शिक्षामित्रों ने बागी तेवर अख्तियार करते हुए अपना बाल मुडवाकर उग्र प्रदर्शन किया। इस दौरान धरने में शामिल महिला शिक्षामित्रों ने भी अपने बाल मुडवा कर जमकर नारें बाजी कर सरकार के खिलाफ अनदेखी का आरोप लगाया । इस दोैरान सैकडों की संख्या में शिक्षामित्रों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ भी जमकर नारें बाजी की।

AASSHHOOKK 2

गौरतलब है कि 25 जुलाई 2017 को सुप्रीम कोर्ट ने शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द कर दिया था। तब से शिक्षामित्र आंदोलनरत हैं। उनकी मांग है कि शिक्षामित्रों को पैराटीचर बनाया जाए और जो शिक्षामित्र टीईटी उत्तीर्ण हैं। उन्हें बिना परीक्षा दिए ही नियुक्ति दी जाए। इसके लिए कई बार सरकार से वार्ता भी हुई लेकिन कोई समुचित रास्ता न निकलने के कारण फिर से शिक्षामित्र अपनी मांग लेकर 38 दिनों से धरनारत हैं। इसी क्रम में आज अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे शिक्षामित्रों ने लखनऊ के गोमती नगर के ईको गार्डेन में प्रदर्शन में अपने बाल मुंडवाकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दोैरान कई महिलाओं ने भी अपने सिर मुंडवाया।

LOHIYA 1

इस दौरान बाल मुंडवाने के पहले प्रदर्शन कर रहे शिक्षामित्रों ने कहा कि अभी तक 708 शिक्षा मित्रों की प्रदेश में मौते हो चुकी हैं। हम अपने अधिकारों को मांग रहे हैं लेकिन यह सरकार हमें हमारे अधिकार नहीं दे रही है। हाईकोर्ट के आदेश को भी सरकार नहीं मानने को तैयार नहीं है। हम अपनी चार सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदर्शन करते रहेंगे। इस दौरान शिक्षामित्रों ने अब तक जान गंवाने वाले अपने साथियों की आत्मा की शांति के लिए हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने मृतकों के परिवारीजनों के लिए आर्थिक सहायकता की भी मांग की।
इस दौरान दर्जनों की संख्या में पुरूष शिक्षामित्रों के साथ उमा देवी, संगीता, सुमन, सरोज देवी समेत कई महिला शिक्षामित्रों ने सिर मुंडवाकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने चेतावनी दी कि जबतक उनकी चार सुत्रीय मांग पूरी नहीं हो जाती तबतक वे हडताल पर ही रहेंगे।

 

Share

Leave a Reply

Share