लोकसभा में जीएसटी विधेयक पारित, 1 जुलाई से हो सकता है लागू

JST ARUN
-मोदी ने कहा, नया साल, नया कानून, नया भारत
नई दिल्ली । आखिर कार  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से जुडे अनुपूरक विधेयक आज लोकसभा में कुछ संशोधनो के बाद पास हो गये। लोकसभा ने  बुधवार को वस्तु एवं सेवा कर व्यवस्था को अमली जामा पहनाने से जुडे चार विधेयकों को आज मंजूरी दे दी।
देश के सबसे बड़े आर्थिक बदलाव सेंट्रल गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (ब्ळैज्), इंटीग्रेटेड जीएसटी (प्ळैज्), यूनियन टेरीटरी जीएसटी (न्ज्ळैज्) और कंपेन्सेशन जीएसटी (ब्ळैज्) बिल लंबी बहस के बाद बुधवार को लोकसभा में पारित हो गए। इससे पहले केन्द्र सरकार ने जल्द से जल्द जीएसटी लागू करने कि लिए अहम चार विधेयक संसद में पेश किए। बुधवार को लंबी बहस के बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने चारों जीएसटी बिल के पास होने की घोषणा की। अब केन्द्र सरकार को जीएसटी लागू करने का अंतिम मसौदा तैयार करना है। जीएसटी पर बहस के दौरान वित्तमंत्री जेटली ने सदस्यों के सवालों का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि यूपीए के दौरान राजनीति के कारण से जीएसटी को लेकर सहमति नहीं थी। लोकसभा में सवालों के जवाब देते हुए जेटली ने कहा कि अब पूरे देश में एक टैक्स प्रणाली होगी। अभी तक कुछ टैक्स लगाने का अधिकार केंद्र औॅर कुछ टैक्स लगाने का अधिकार राज्यों को था।

गौरतलब है कि जीएसटी विधेयक को लागू करने से पूरे देश में एक टैक्स प्रणाली हो जायेगी। जिससे लोंगो को लाभ मिलेगा। इससे अब अलग-अलग टैक्स देने से लाभ मिल सकेगा। इस अप्रत्यक्ष कर प्रणाली के एक जुलाई 2017 से लागू होने की उम्मीद अब बढ गई है। सरकार ने संसद को आश्वस्त किया कि नई कर प्रणाली में उपभोक्ताओं और राज्यों के हितों को पूरी तरह से सुरक्षित रखने के साथ ही कृषि पर कर नहीं लगाया गया है।

Share

Leave a Reply

Share