Breaking News

वाराणसी: कमिश्नर व डीएम ने भोजन वितरित करने वाली संस्थाओं को किया सम्मानित

विजय श्रीवास्तव
-विपदा की घड़ी में काशीवासियों ने जिला प्रशासन का बखूबी साथ दिया-कमिश्नर
-काशीवासियों ने जो एकजुटता और समर्पण दिखाया है वह अत्यंत ही सराहनीय है-जिलाधिकारी

वाराणसी। कोविड-19 वैश्विक महामारी में कोरोना वायरस के संक्रमण एवं उससे बचाव के लिए किये गये देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान जिला प्रशासन के आह्वान पर शहर की 90 संस्थाओं ने प्रशासन के सहयोग से 15 लाख से अधिक भोजन के पैकेट जरूरतमंदों में वितरित किया गया। आज ऐसी सभी 90 संस्थाओं को गुरूवार को कमिश्नरी ऑडिटोरियम सभागार में जिला प्रशासन के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कमिश्नर दीपक अग्रवाल व डीएम कौशल राज शर्मा ने सम्मानित किया और भविष्य में दुबारा ऐसे ही सेवा भाव से कार्य करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया।


इस दौरान कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि कोविड-19 की जो विपदा पूरे विश्व में आयी है उस निपटने के लिए काशीवासियों ने जिला प्रशासन का बखूबी साथ दिया। काशी में जिन लोगों ने इस विपदा की घड़ी में घरों से निकलकर जिला प्रशासन के सहयोग से लाखों पैकेट भोजन का वितरण जरूतमंदों में किया, ऐसे लोगों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि अच्छे लोगों की पहचान मुश्किल घड़ी में ही होती है और ऐसे ही लोगों को हमने आज सम्मानित किया है।


जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि वाराणसी में लॉकडाउन के समय में जिन भी संस्थाओं और व्यक्तियों ने जिला प्रशासन के साथ कदम से कदम मिलाकर जरूरतमंदों में भोजन का पैकेट वितरित किया, ऐसी 90 संस्थाओं को आज यहां सम्मान पत्र देकर उन्हें इस पुनीत कार्य के लिये सम्मानित किया गया है। उन्होंने बताया कि वाराणसी जनपद इन संस्थाओं के सहयोग से रोजाना सुबह और शाम दोनों समय 17 से 18 हजार पैकेट भोजन बाटा जा रहा था। उन्होंने लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप लोगों ने जो महामारी से लड़ने में एक जुटता और समर्पण दिखाया है वह अत्यंत ही सराहनीय है। अपने परिवारों की देखभाल से ऊपर उठकर वसुधैव कुटुंबकम् की भावना से पूरे समाज के लिए जो योगदान सबने मिलकर दिया वह दुनिया के सामने एक मिसाल है। इस धार्मिक और सांस्कृतिक नगरी के महात्म को सिद्ध करते हुए पूरे प्रशासनिक अमले के साथ -साथ विभिन्न संस्थायें, अनेकों धार्मिक संगठन, निजी संस्थायें, व्यक्तिगत सामर्थ्यवान यहां तक कि छोटे छोटे बच्चों ने अपने गुल्लक तक सौंप दिये।


इस दौरान विद्येश्वर फाउण्डेशन एण्ड चैरिटेबल ट्रस्ट, जालान, सहित 90 संस्थाओं के प्रतिनिधित उपस्थित रहे। इस दौरान प्रशासनिक अधिकारी के साथ संस्थाओं के अनुराग श्रीवास्तव, अमीत आनन्द, अजय मिश्र, अरविन्द सिंह आदि लोग उपस्थित रहे।

Share

Related posts

Share