Breaking News

वाराणसी : कोरोना महामारी में सीआरपीएफ का मानवीय चेहरा आया सामने

विजय श्रीवास्तव
-पहाडिया स्थित 95 बटालियन सीआरपीएफ के कमाडेंन्ट ने संभाला मोर्चा
-1000 जरूरतमंदों में कराया लंच पैकेट का वितरण
-साथ में कई अन्य संस्थाओं के साथ व्यापार मंडल ने भी बटाया हाथ

वाराणसी। कोरोना वायरस के संकट से आज पूरा विश्व जूझ रहा है। ऐसे में आज हमारा देश भी इस वैश्विक आपदा को हराने में लगा है। पीएम नरेन्द्र मोदी के 21 दिनों के सम्पूर्ण लाकॅडाउन का सीधा असर रोजमर्रा गरीब मजदूरों और समाज के निचले वर्ग पर पडा है। ऐसे में उनके लिए दो वक्त के खाने के भी लाले पड गये हैं लेकिन ऐसे में पूरा देश मदद के लिए तैयार बैठा है। वहीं दूसरी ओर जहां आज तक सीआरपीएफ जिसका दूसरा चेहरा लोग देखते आ रहे थे वहीं उनका एक दूसरा मानवीय चेहरा देखने को मिला। जिसकी समाज में लोग काफी प्रशसा कर रहे हैं।


भगवान बुद्ध की उपदेश स्थली सारनाथ के समीप पंचकोशी चैराहे पर आज पहाडिया में स्थित 95 बटालियन सीआरपीएफ के कमाडेंन्ट नरेन्द्र पाल सिहं अपने जवानों के साथ पूरे आत्मीय भाव से आसपास कोरोना महामारी से बेहाल सैकडों परिवार के बच्चों, महिलाओं व पुरूषों में उन्होंने लंच पेैकेट का वितरण कराया। इस दौरान सोसल डिस्टेसिंग का भी ख्याल रखा गया है। लंच पैकेट के लिए स्थानीय पुलिस चैकी संतोष यादव ने ध्वनि प्रसारण यंत्र के माध्यम से लोंगो को बुलाकर सीआरपीएफ के साथ हाथ बटाया।

इस दौरान कमाडेंन्ट नरेन्द्र पाल सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हम लोंग समाज के हर कार्य में सहयोग के लिए तैयार है। अभी तक हमलोगों का एक दूसरा रूप समाज में लोंगो को देखने को मिलता रहा है लेकिन कोरोना रूपी राष्ट्रीय आपदा को देखते हुए हमारी 95 बटालियन सीआरपीएफ ने यह संकल्प लिया कि हमलोग तन-मन-धन से महामारी से बेहाल गरीबोें के लिए हर तरह से मदद करेंगे। इसी कडी में आज हम और हमारें सीआरपीएफ के जवान व साथ ही अन्य कई सहयोगी साथी भी लंच पैकेट का वितरण करा रहे हें। हमारी सोच है कि वाराणसी में कोई भूखा न रहे। उन्होंने कहा कि किसी को किसी भी तरह की मदद की जरूरत है तो हम और हमारें इस आपदा में उनके साथ है। साथ ही उन्होंने इस लाकॅडाउन में सभी से सोसल डिस्टेसिंग का ख्याल करते हुए घरों में रहने की हिदायत भी दी।


इस दौरान व्यापार मंडल वाराणसी के अध्यक्ष अजीत सिंह बग्गा, जंगमवाडी मठ डाॅ चन्द्रशेखर शिवा आचार्य, नलिनी देवी के साथ अन्य लोंगो के साथ प्रादेशिक जर्नलिस्ट एशोसिएशन, ऊप्र ने भी सहयोग किया। इस अवसर पर सीआरपीएफ के उपकमाडेंट एम के मिश्र, निरिक्षक कुमार राजीव, सुबेदार मेजर अनील कुमार, उमेश कुमार सिंह, रमेश सिंह, वरिष्ठ पत्रकार गोपाल मिश्र, डाॅ आलोक कुमार, अजय कुमार सिंह, बृजेश कुमार गुप्ता सहित सहित स्थानीय पुलिस के साथ टैफिक पुलिस के जवान भी उपस्थित रहे।

Share

Related posts

Share